Top

बैंकों से चेक निकालकर कैश करने वाले 2 नटवरलाल अरेस्ट, 4 लाख कैश बरामद

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 21 Aug 2018 2:35 PM GMT

बैंकों से चेक निकालकर कैश करने वाले 2 नटवरलाल अरेस्ट, 4 लाख कैश बरामद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हापुड़ : यूपी के जनपद हापुड़ पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने बैंकों के चेक बॉक्स से लाखों रूपये के चेक चोरी करने वाले मेरठ के दो शातिर चोरों को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से चार लाख की नकदी, चेकों में कूटरचना के लिए प्रयुक्त कलम और छह फर्जी आईडी बरामद हुई है।

जानकारी के अनुसार दोनों नटवरलाल दानिश और नदीम मेरठ के रहने वाले हैं। ये मास्टरमाइंड चोर पहले तो फिल्मी अंदाज में बैंकों में जाकर थोड़ी देर बैंकों में घूमते थे। उसके बाद आसपास के लोगों पर नजर रखते थे कि कौन चेक जमा करने आ रहा है। जब कोई व्यक्ति बैंक के चेक बॉक्स में अपना चेक डालकर चला जाता था। तो ये दोनों मास्टर की के जरिए बैंक के चेक बॉक्स को खोल लेते थे और फिर उसी चेक पर बड़े शातिर तरीके से हेराफेरी कर उनके नाम को बदल दिया करते थे। बाद में ये चोर फर्जी आईडी के सहारे उस चेक को कैश करा लेते थे।

जब पीड़ितों को इस बारे में जानकारी मिलती थी तो वह पुलिस से न्याय की गुहार लगाते थे। दोनों चोर कुछ समय पहले हापुड़ के इलाहबाद बैंक में भी एक युवक को इसी तरीके से चार लाख रूपये के चेक की चपत लगाकर फरार हो गए थे। लेकिन इन चोरों की ये वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी थी।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर सिटी कोतवाली में भी मुकदमा दर्ज किया गया था। मंगलवार को पुलिस ने दोनों चोरों को गिरफ्तार कर लिया। नटवरलाल के पास से चार लाख की नगदी और कुछ फर्जी आईडी भी बरामद हुई है पुलिस की जानकारी के अनुसार पकड़े गए दोनों चोरों पर अलग-अलग जनपदों में करीब एक दर्जन मुकदमें दर्ज हैं।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story