Top

Bareilly Crime News: प्रसाद में नशीला पदार्थ मिलाकर ई-रिक्शा और मोबाइल लूटकर शातिर लुटेरे फरार

लुटेरों में एक महिला भी शामिल, बेहोशी हालत में मुबारकपुर जंगल में मिला चालक

Vivek Singh

Vivek SinghReport Vivek SinghSushil ShuklaPublished By Sushil Shukla

Published on 4 July 2021 9:49 AM GMT

Bareilly Crime News:  प्रसाद में नशीला पदार्थ मिलाकर ई-रिक्शा और मोबाइल लूटकर शातिर लुटेरे फरार
X

बेहोशी की हालत में लूट का शिकार ई-रिक्शा चालक

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली। जनपद के नवाबगंज थाना ने लुटेरों ने ई-रिक्शा चालक को प्रसाद में नशीला पदार्थ खिलाकर उसका ई-रिक्शा, मोबाइल व नकदी लूट ली। घटना के बाद लुटेरे चालक को मुबारकपुर के जंगल में छोड़कर रफूचक्कर हो गए। बेहोश चालक को इलाज के लिए नगर सीएससी ले जाया गया जहां हालत गंभीर देखकर उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

जिला बरेली के नवाबगंज थाना क्षेत्र के गांव बिथरी के रहने वाले बनवारी लाल का पुत्र विकास ई-रिक्शा चलाकर अपने परिवार का भरण पोषण करता है। विकास जब नवाबगंज बाईपास पर अपना ही रिक्शा लेकर खड़ा था तब उसके पास एक महिला और एक पुरुष पहुंचे और उन्होंने कहा कि हमें थाना क्षेत्र हाफिजगंज के गांव फैजुल्लापुर जाना है। सवारियों से पैसे की बात हुई फिर विकास अपने ई रिक्शा पर महिला और पुरुष को बैठाकर उनके स्थान पर ले जाने लगा। रास्ते में राजघाट स्थित एक मंदिर के पास दोनों प्रसाद चढ़ाने के बात कहकर मंदिर चले गए। जब लौटकर आए तब उन्होंने ई रिक्शा चालक विकास से कहा कि आप प्रसाद खा लो। जब विकास में प्रसाद खाने से मना किया तो महिला ने देवी मां का प्रसाद कहकर खाने का दबाव बनाया और कहा कि प्रसाद के लिए मना नहीं करते बेटा। ये देवी मां का प्रसाद है। महिला के कहने पर विकास ने थोड़ा सा प्रसाद खा लिया। जिसके बाद उसे नशा होने लगा। जब विकास बेहोश होने लगा तक उस पर सवार महिला व पुरूष उसके पास से कुछ नगदी और उसका ई-रिक्शा समेत मोबाइल छीन कर ले गए। परिवार बालों को विकास बेहोशी हालत में मुबारकपुर के जंगल में मिला। पुलिस ने बेहोश युवक को पहले नगर सीएससी अस्पताल में भर्ती कराया। बाद में उसकी हालत नाजुक देखकर सीएससी के डॉक्टरों ने विकास को जिला अस्पताल में रेफर कर दिया। फिलहाल इस गरीब परिवार का कमाई का जरिया अब खत्म हो गया है जिससे परिवार प्रशासन से ई-रिक्शा बरामद कराने की गुहार लगा रहा है।

Sushil Shukla

Sushil Shukla

Next Story