Top

बीजेपी नेता कुलदीप तोमर की पत्नी की मौत, मृतका के परिजनों ने दर्ज कराया हत्या का मुकदमा

कुलदीप का कहना था कि बेटी के स्कूल जाने को लेकर उनका पूनम से विवाद हुआ था। जिसके बाद वह अपनी पिस्टल अपने कान पर लगाकर खुद को गोली मारने की धमकी दे रहे थे। इसी दौरान हुई छीना-झपटी में गोली चल गई और पूनम की गर्दन में लग गई।

zafar

zafarBy zafar

Published on 18 Feb 2017 4:39 PM GMT

बीजेपी नेता कुलदीप तोमर की पत्नी की मौत, मृतका के परिजनों ने दर्ज कराया हत्या का मुकदमा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: शुक्रवार की शाम मेडिकल थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर एल ब्लॉक में संदिग्ध हालात में गोली लगने से घायल हुई भाजपा नेता कुलदीप तोमर की पत्नी पूनम की शनिवार की दोपहर उपचार के दौरान मौत हो गई। पूनम की मौत के बाद उनके मायके वालों ने कुलदीप के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है।

क्या है मामला

-बता दें कि शास्त्रीनगर एल-965 निवासी बीजेपी नेता कुलदीप तोमर की पत्नी पूनम को देर रात संदिग्ध हालात में गोली लगने पर आनंद अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

-कुलदीप का कहना था कि बेटी के स्कूल जाने को लेकर उनका पूनम से विवाद हुआ था।

-जिसके बाद वह अपनी पिस्टल अपने कान पर लगाकर खुद को गोली मारने की धमकी दे रहे थे।

-इसी दौरान हुई छीना-झपटी में गोली चल गई और पूनम की गर्दन में लग गई।

-वहीं देर रात घटना की जानकारी मिलने पर पूनम के मायके के लोग भी सहारनपुर से मेरठ के लिए रवाना हो गए।

आरोपी लापता

-आनंद अस्पताल में पूनम को वेंटिलेटर पर रखते हुए डाक्टरों ने उनकी हालत गंभीर बताई थी।

-सुबह पूनम के पिता, भाई और अन्य रिश्तेदार भी अस्पताल पहुंच गए।

-दोपहर तक चले अटकलों के दौर के बाद डॉक्टरों ने पूनम को मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया।

-उधर, पूनम की मौत की जानकारी मिलते ही कुलदीप तोमर भी अस्पताल से लापता हो गया।

-घटना की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

-मृतका के भाई ने पूनम के पति कुलदीप तोमर के खिलाफ हत्या की तहरीर दी है। घटना के बाद से ही आरोपी फरार है।

कुलदीप को बचाने का प्रयास

-बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने शनिवार की सुबह ही पूनम के उपचार से हाथ खड़े करते हुए जवाब दे दिया था।

-लेकिन इसके बावजूद परिजनों के दबाव में उसे मृत घोषित न करते हुए वेंटिलेटर पर रख गया।

-दरअसल, ससुराल पक्ष के लोग मायके पक्ष के लोगों का रूख देखकर उन्हें समझाने का प्रयास कर रहे थे।

-बच्चों की दुहाई देकर और अन्य रिश्तेदारों के माध्यम से मायके वालों को राजी करने के प्रयास होते रहे कि पूनम को कुछ होने पर कोई एक्शन न लें।

-वहीं मेडिकल थाने में आरोपी के अच्छे रसूख के चलते पुलिस भी मामले को दबाने का प्रयास करती रही।

-लेकिन मायके पक्ष के लोगों ने किसी प्रकार के समझौते से इंकार कर दिया।

-आरोप है कि अस्पताल के डॉक्टरों ने भी अधिक समय तक पूनम की मौत को छिपाए जाने से इनकार कर दिया।

-जिसके बाद पूनम को मृत को घोषित किया गया। जिसके बाद मृतका के भाई प्रवीन ने आरोपी के खिलाफ तहरीर दी है।

zafar

zafar

Next Story