Top

छेडछाड़ मामला : पुलिस के दबाव के बाद BJP विधायक का जनसंपर्क कार्यालय बंद

यूपी के बांदा जिले की नरैनी सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक के प्रतिनिधि और उनके बेटे दो नाबालिग छात्राओं के साथ छेड़छाड़ और मारपीट के मामले में फरार हैं।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 3 Oct 2017 6:10 AM GMT

छेडछाड़ मामला : पुलिस के दबाव के बाद BJP विधायक का जनसंपर्क कार्यालय बंद
X
छेडछाड़ मामला : पुलिस के दबाव के बाद BJP विधायक का जनसंपर्क कार्यालय बंद
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बांदा : यूपी के बांदा जिले की नरैनी सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक के प्रतिनिधि और उनके बेटे दो नाबालिग छात्राओं के साथ छेड़छाड़ और मारपीट के मामले में फरार हैं। उनकी गिरफ्तारी को लेकर चल रहे कमोबेश के बीच मंगलवार को विधायक का जनसंपर्क कार्यालय बंद कर दिया गया। नरैनी से भाजपा विधायक राजकरन कबीर के बांदा रोड स्थित जनसंपर्क कार्यालय में उनके प्रतिनिधि नंदकिशोर ब्रह्मचारी के अलावा मुख्य सेवादार भोला प्रसाद बसराही, बाबू जी और रसोइया रामचरन तैनात थे।

इन्हीं सेवादारों पर संघ, पार्टी पदाधिकारियों और अन्य जनप्रतिनिधियों की खातिरदारी का जिम्मा था, कार्यालय में विधायक तो बहुत कम हाजिर रहते थे।

पिछले 23 सितंबर को विधायक के प्रतिनिधि और उनके बेटे राहुल के खिलाफ दो ब्राह्मण नाबालिग छात्राओं से छेड़छाड़ करने और उनके घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में अदालत में पीड़ित पक्ष का बयान दर्ज होने से पुलिस हरकत में आई।

यह भी पढ़ें .... छेड़छाड़ मामला: पीड़ित छात्राओं ने दिया बयान तो BJP विधायक का प्रतिनिधि फरार

गिरफ्तारी से घबराकर प्रतिनिधि अपने बेटे सहित फरार हो गए। कार्यालय में तैनात सेवादारों से पुलिस अब तक कई बार पूछताछ कर चुकी है।

कार्यालय के मुख्य सेवादार भोला प्रसाद ने बताया कि पुलिस उन्हें बार-बार परेशान कर रही है, मामले में दर्ज चार अज्ञात आरोपियों के नाम पर फंसाने की धमकी दे रही है। पुलिस के ही भय से विधायक ने मंगलवार से जनसंपर्क कार्यालय बंद करवा दिया है।

यह भी पढ़ें .... BJP MLA के प्रतिनिधि की गिरफ्तारी न होने पर आंदोलन करेगा ब्राह्मण समाज

मामले के विवेचना अधिकारी/उपनिरीक्षक रामआसरे त्रिपाठी ने बताया कि विधायक कार्यालय में तैनात कर्मचारियों को परेशान नहीं किया गया। नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश जरूर दी गई है।

उन्होंने बताया कि पीड़िता के घर में घुसकर मारपीट करने के मामले में दर्ज अज्ञात चार आरोपी यही कर्मचारी हो सकते हैं, शायद इसी से घबराकर उन्होंने कार्यालय बंद कर दिया हो।

--आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story