Top

BJP विधायक की दबंगई, वन विभाग के अधिकारियों को जमकर पीटा

By

Published on 6 Oct 2017 8:18 AM GMT

BJP विधायक की दबंगई, वन विभाग के अधिकारियों को जमकर पीटा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया: शासित दल के बैरिया क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र सिंह की दबंगई एक बार फिर सामने आई है। भाजपा विधायक ने बीती रात छापेमारी के लिए जुटे वन विभाग के अधिकारियों को मारा-पीटा। विधायक भी वन विभाग के अधिकारियों पर अवैध वसूली करने का आरोप लगाते हुए आज धरने पर बैठ गए हैं।

यह भी पढ़ें: हरदोई पुलिस की दबंगई, मजदूरी के पैसे मांगने पर किया अधमरा, पांचों सिपाही सस्पेंड

प्रभागीय वन अधिकारी एम के सिंह के अनुसार बैरिया थाना क्षेत्र के चिरइया मोड़ पर कल रात वन विभाग की टीम एक ऑपरेशन के लिए इकट्ठा हो रही थी। वन दरोगा संतोष वर्मा अपनी टीम के साथ कुछ अन्य कर्मचारियों के आने का इंतजार कर रहे थे कि इसी बीच भाजपा के बैरिया क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र सिंह दल-बल के साथ पहुंचे तथा उन्होंने वन दरोगा व अन्य कर्मचारियों को लाठी-डंडों व हाथ से मारना-पीटना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें: शाहजहांपुर में 45 दलित परिवार दबंगई का हुए शिकार, विशेष समुदाय ने दी पलायन की धमकी

इस हमले में वन दरोगा संतोष वर्मा गंभीर रूप से घायल हो गए। उनको जिला अस्पताल मे भर्ती कराया गया है। वन दरोगा का पैर फ्रैक्चर हो गया है। उधर विधायक सुरेंद्र सिंह भी आज बैरिया में वन विभाग के कार्यालय के प्रांगण में धरने पर बैठ गए हैं। विधायक ने पत्रकारों को बताया कि वन विभाग की टीम को उन्होंने एक ट्रैक्टर से अवैध वसूली करते अपनी आंखों से देखा। उन्होंने मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

यह भी पढ़ें: BJP विधायक की दबंगई के खिलाफ जिला प्रशासन ने दिए जांच के आदेश

उनका कहना है कि यदि जांच में वह दोषी पाए जाए, तो उनपर भी कार्रवाई की जाए। उन्होंने आरोप लगाया कि योगी सरकार में भी बलिया में भ्रष्टाचार पर कोई रोक नहीं है। प्रभागीय वन अधिकारी सिंह ने बताया कि इस मामले में भाजपा विधायक पर मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। विधायक के अवैध वसूली के आरोप पर उन्होंने कहा कि यदि विधायक को अवैध वसूली को लेकर कोई शिकायत रही तो वह प्रक्रिया के अनुसार शिकायत कर सकते थे, लेकिन कर्मचारियों को लाठी व हाथ से मारना कैसे न्यायसंगत है?

बैरिया थाना प्रभारी अतुल राय ने बताया कि उनको वन विभाग की तरफ से मोबाइल पर घटना की जानकारी दी गई है। पुलिस तहरीर मिलने के बाद आवश्यक विधिक कार्रवाई करेगी।

Next Story