Top

बीएसपी का प्रत्याशी मेरठ से अगवा, घरवालों ने किया हाइवे जाम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 12 July 2016 9:33 PM GMT

बीएसपी का प्रत्याशी मेरठ से अगवा, घरवालों ने किया हाइवे जाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठः बुढ़ाना विधानसभा से बीएसपी प्रत्याशी मो. आरिफ का अज्ञात बदमाशों ने मेरठ बाइपास पर अपहरण कर लिया। उनकी एसयूवी डाबका गांव के पास लावारिस मिली। परिजनों की सूचना पर कंकरखेड़ा पुलिस मौके पर पहुंची और आरिफ की तलाश की। काफी तलाश के बावजूद आरिफ का पता नहीं चला। आरिफ के न मिलने पर परिजनों ने बाइपास पर हाइवे जाम कर दिया। बाद में किसी तरह सीओ ने समझा बुझाकर जाम खुलवाया।

क्या है घटना?

-मोहम्मद आरिफ मंगलवार दोपहर दिल्ली से बुढ़ाना आ रहे थे।

-रिश्तेदार साजिद से सरधना चौराहे पर मिलने के लिए कहा।

-काफी देर तक नहीं पहुंचने और फोन न मिलने पर साजिद ने आरिफ के घरवालों को जानकारी दी।

-आरिफ को तलाश करते हुए घरवाले मेरठ पहुंचे।

-डाबका गांव के पास घरवालों को आरिफ की गाड़ी खड़ी मिली।

बदलती रही मोबाइल की लोकेशन

-पुलिस ने आरिफ की तलाश करनी शुरू की।

-मोबाइल सर्विलांस पर लिया गया, जिसकी पहली लोकेशन तेज विहार कॉलोनी में मिली।

-कुछ देर बाद मोबाइल की लोकेशन खटिकपुरा हो गई। बाद में लोकेशन मिलनी बंद हो गई।

-आरिफ के घरवालों की पुलिस से तीखी झड़प हुई। मंगलवार देर रात थाने में अगवा किए जाने की तहरीर दी।

-घरवालों के मुताबिक आरिफ दिल्ली से 10 लाख रुपए लेकर बुढ़ाना आ रहे थे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story