Top

B.Tech स्टूडेंट को ड्रग्स देकर सहपाठी करते थे कुकर्म, 6 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज

aman

amanBy aman

Published on 17 Sep 2016 8:12 AM GMT

B.Tech स्टूडेंट को ड्रग्स देकर सहपाठी करते थे कुकर्म, 6 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: रक्षा मंत्रालय के कश्मीर हाउस के एक अधिकारी के बेटे से रैगिंग के दौरान ड्रग्स देकर कुकर्म का मामला सामने आया है। पीड़ित छात्र शहर के एक प्रतिष्ठित कॉलेज से बीटेक कर रहा है। इस मामले में छात्र के पिता ने बताया कि हॉस्टल में 12 दिन तक उनके बेटे को यातनाएं दी गईं।

पुलिस ने एक सीनियर समेत चार छात्रों, हॉस्टल वार्डन और कर्मचारी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

कॉलेज से संबंधित है पीजी

पीड़ित छात्र के पिता ने बताया कि बीटेक में दाखिले के बाद कॉलेज के हॉस्टल में जगह न मिलने पर कॉलेज से संबंधित निजी हॉस्टल में 27 अगस्त को उनके बेटे को रूम दिलाया गया था। 5 सितंबर को बेटे ने फोन कर बताया था कि वह हॉस्टल में नहीं रह सकता, अगर रहा तो उसका करियर बर्बाद हो जाएगा। अगले दिन परिजन बेटे के हॉस्टल पहुंचे तो यहां तैनात स्टाफ ने रुपयों को लेकर मामूली विवाद होने की जानकारी दी साथ ही आगे से विवाद न होने देने का आश्वासन दिया।

घर पर बताई ड्रग्स देकर कुकुर्म की बात

इस घटना के कुछ दिन बाद पीड़ित छात्र ने एक बार फिर पिता को दोबारा फोन किया और उसे घर ले जाने की बात कही। छात्र ने पिता को बताया कि उसे हर रोज जबरन इंजेक्शन से ड्रग्स दी जाती थी। इसके बाद एक एमटेक छात्र और उसके तीन सहपाठी कुकर्म कर अमानवीय यातनाएं देते थे। साथ ही ब्लू फिल्म दिखाकर उसके साथ कई बार कुकर्म किया गया। उसका मोबाइल भी तोड़ दिया गया और उसे हॉस्टल से बाहर भी नहीं जाने दिया जाता था।

प्राइवेट में डाल दिया था कपड़ा

पीड़ित छात्र के पिता ने बताया कि उनके बेटे के प्राइवेट पार्ट से कपड़ा भी निकला है। वह इतने सदमे में है कि किसी से बात तक नहीं कर रहा।

छह के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज

एसएसपी धमेंद्र यादव ने बताया कि मामले में अभी तक एमटेक के छात्र ब्रज, बीटेक छात्र स्वर्णिम, राघव, करतन, कर्नल त्रिपाठी और मिस्टर मल्होत्रा के खिलाफ आईपीसी की धारा-323, 328 और 377 के तहत केस दर्ज किया गया है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story