Top

मंदिर में 'बछड़े का सिर' मिलने के बाद मचा बवाल, प्रशासन को मिला 24 घंटे का अल्टीमेटम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 April 2017 12:38 PM GMT

मंदिर में बछड़े का सिर मिलने के बाद मचा बवाल, प्रशासन को मिला 24 घंटे का अल्टीमेटम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इलाहाबाद : धर्मं नगरी इलाहाबाद में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की साजिश रच कुछ अराजक तत्वों ने शिव मंदिर में बछड़े का कटा सिर फेंक दिया। जब ये बात फैली तो माहौल तनावपूर्ण हो गया। घटना तेलियागंज महर्षि पतंजलि स्कूल के सामने स्थित शिव मंदिर की है।

ये भी देखें :VIRAL VIDEO: दिल्ली के इस मेट्रो स्टेशन पर चली पोर्न क्लिप, DMRC ने दिए जांच के आदेश

मंदिर में बछड़े के कटे सिर की बात आग की तरह शहर भर में फ़ैल गयी इसके बाद मंदिर के आसपास भीड़ बढ़ने लगी, किसी ने इसी बीच पुलिस को मामले की सूचना दी जिसके बाद इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस एवं पीएसी मौजूद है।

शनिवार सुबह 5 बजे मंदिर के पुजारी ने देखा कि दरवाजे के पास बछडे का सिर रखा हुआ था। जिसको देख वहां मौजूद पुजारी सहित भक्त आग बबूला हो उठे। इसके बाद ये बात आग की तरह फैलने लगी कुछ ही देर में मंदिर में भीड़ इकठ्ठा होने लगी। आक्रोशित भीड़ ने जाम लगा आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए प्रदर्शन आरंभ कर दिया। इसकी सूचना किसी ने पुलिस को दे दी खबर मिलते ही शिवकुटी थाना प्रभारी सहित अन्य थाने की फोर्स भी आ पहुंची लोगों को समझाने के बाद भारी फोर्स तैनात कर दिया गया है। अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई। आईजी, डीआईजी और एसएसपी सहित सभी बड़े अधिकारी ने मौके पर पहुँच कर स्थिति का जायजा लिया और जल्द से जल्द आरोपी को पकड़ने की बात कही।

वहीं विश्व हिन्दू परिषद ने एफआईआर दर्ज करा 24 घंटे मे दोषी व्यक्ति के विरूद्ध कार्यवाही करने का अल्टीमेटम दिया है। इस दौरान दर्जनों की संख्या में विश्व हिन्दू परिषद और बजरंगल दल के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story