×

Chandauli Crime News: लुटेरों ने यात्री को फेंका ट्रेन के नीचे, रेलवे की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल

Chandauli Crime News: मामला वाराणसी व पंडित दीनदयाल जंक्शन के बीच का है जहां एक यात्री से लूट में विफल रहने के बाद बदमाशों ने उसे ट्रेन से नीचे फेंक दिया।

Ashvini Mishra

Ashvini MishraWritten By Ashvini MishraPallavi SrivastavaPublished By Pallavi Srivastava

Published on 30 July 2021 5:48 AM GMT

Passenger thrown under train
X

यात्री को फेंका ट्रेन के नीचे (सांकेतिक फोटो) फोटो- सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Chandauli Crime News: उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) में आपराधिक घटनाएं बढ़ती ही जा रही हैं। आए दिन लूट, मर्डर, अपहरण की घटनाएं सुनाई देती हैं। इतना ही नहीं बेखौफ बदमाश घटना को अंजाम न देेने पर जान से भी मारने से नहीं चूकते हैं। ऐसी ही एक घटना सामने आयी है। ट्रेने में सफर कर रहे यात्री से मोबाइल छीनने में विफल रहे तो यात्री को ट्रेन से नीचे ही फेंक दिया।

भारतीय रेल सुरक्षित यात्रा के लाख दावे करे लेकिन सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह से ट्रेनों में ध्वस्त है। मामला वाराणसी व पंडित दीनदयाल जंक्शन के बीच का है। जहां एक यात्री से लूट में विफल रहने के बाद बदमाशों ने उसे ट्रेन से नीचे फेंक दिया। ऊपर वाले की कृपा रही की उसकी जान बच गयी और गंभीर चोट भी नहीं लगी।

पीड़ित घायल यात्री ने बताई पूरी घटना pic(Social media)

बता दें कि भारतीय रेल सुरक्षित रेल का नारा दे रहा है। जहां दो दो एजेंसियां एवं सुरक्षाकर्मी लगे हैं उसके बावजूद भी ट्रेनों में खुलेआम लुटेरे घूम रहे हैं। और लूट की घटना को अंजाम देने में विफल होने के बाद यात्रियों की जिंदगी लेने पर भी आमादा हो जाते हैं।

गुरुवार को गाजियाबाद से दानापुर यात्रा कर रहे बिहार बांका निवासी मोहम्मद सरवर के साथ कुछ ऐसा ही हुआ। वाराणसी जंक्शन के आगे ज्योही ट्रेन बढ़ी, तभी चलती ट्रेन में चंदौली जिले के मुगलसराय थाने के जलीलपुर चौकी के क्षेत्र में पड़ाव स्टेशन के बाद बदमाशों ने ट्रेन में उसका मोबाइल छीनने की कोशिश की। जब मोबाइल नहीं छीन सके तो उसे ट्रेन से नीचे फेंक दिया। ट्रेन से गिरने के बाद पीड़ित सरवर लहूलुहान हालत में किसी तरह पूछते पाछते हुए जलीलपुर पुलिस चौकी पहुंचा।

वहां भी उसका उपचार न कराकर पुलिस ने सीमा विवाद में उस पर धौस जमाया और उसका मुकदमा भी नहीं दर्ज किया। मानवता का परिचय देते हुए डॉ सुल्तान ने पीड़ित यात्री का तत्काल प्राथमिक उपचार कर चंदे के पैसे से उसे गंतव्य को रवाना किया। जहां रेलवे विभाग यात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था देने में फेल है वहीं उत्तर प्रदेश की पुलिस भी पीड़ितों की मदद के नाम पर बहानेबाजी कर घायल यात्री पर धौस जमाती रहती है। हालांकि पीड़ित किसी तरह जान बचा के अपने घर को रवाना हो गया।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story