Top

बाराबंकी: बेऔलाद मां ने 2 लाख रुपए में किया 3 महीने के मासूम के अपहरण का सौदा

बेऔलाद होना एक मां के लिए सबसे बड़ा दुःख है और यह दुःख तब और बढ़ जाता है जब समाज के ताने उस महिला को जीने नहीं देते समाज के तानों से तंग आकर महिला अपनी गोद भरने के लिए वह सब करने को मजबूर हो जाती है जिसे समाज की नजरों में गुनाह समझा जाता है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 25 Dec 2016 8:22 AM GMT

बाराबंकी: बेऔलाद मां ने 2 लाख रुपए में किया 3 महीने के मासूम के अपहरण का सौदा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: बेऔलाद मां ने 2 लाख रुपए में किया 3 महीने के मासूम के अपहरण का सौदा पुलिस ने सभी आरोपियों को किया गिरफ्तार

बाराबंकी : बेऔलाद होना एक मां के लिए सबसे बड़ा दुःख है और यह दुःख तब और बढ़ जाता है जब समाज के ताने उस महिला को जीने नहीं देते। समाज के तानों से तंग आकर महिला अपनी गोद भरने के लिए वह सब करने को मजबूर हो जाती है जिसे समाज की नजरों में गुनाह समझा जाता है। ऐसे ही एक मामले में बेऔलाद संतोषी गुप्ता ने अपनी गोद भरने के लिए दो लाख रुपए में एक मासूम के अपहरण का सौदा कर दिया।

क्या है मामला ?

-मामला बाराबंकी जिले के थाना बड्डूपुर इलाके के रायपुर गांव का है।

-जहां 21 दिसंबर की रात सोते समय तीन महीने के मासूम राशिद को उसके घर से गांव के ही चंद्र प्रकाश उर्फ संजू वर्मा ने किडनैप कर लिया।

-इसके बाद चंद्र प्रकाश ने मासूम राशिद का 2 लाख रुपए में सुल्तानपुर जिले के थाना कादीपुर के रहने वाले सुरेश प्रजापति को बेचना का सौदा किया।

-सुरेश ने इसके लिए चंद प्रकाश को एडवांस में 12 हजार रुपए भी दिए।

-इस मासूम को संतोषी गुप्ता नाम की महिला को लेना था क्योंकि उसकी कोई औलाद नहीं हो रही थी।

-जिसके चलते वह बच्चे की खातिर कुछ भी करने के लिए तैयार हो गई।

-एसपी राजू बाबू सिंह के अनुसार, संतोषी निःसंतान है।

-उसी ने बच्चे के किडनैपिंग की साजिश रची और किडनैपर्स के लिए 2 लाख रुपए की रकम रखी।

बाराबंकी: बेऔलाद मां ने 2 लाख रुपए में किया 3 महीने के मासूम के अपहरण का सौदा अपनी असली मां के गोद में मासूम

क्या कहा पुलिस ने ?

-पुलिस के अनुसार 22 दिसंबर को बड्डूपुर पुलिस को सूचना मिलने के बाद शक के आधार पर चंद्र प्रकाश के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई थी।

-जिसके बाद पूछताछ में पूरा मामला खुलता चला गया।

-एसपी राज बाबू ने बताया इस पूरे किडनैपिंग कांड में मुखबिर की सूचना भी काफी मददगार साबित हुई।

-पुलिस ने तीनों आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है।

-बच्चे को उसकी असली मां जाहिदा के पास सौंप दिया गया है।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story