Top

लेडी सिंघम श्रेष्ठा ने जालसाज को दिखाई उसकी असली जगह

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 Jan 2018 2:32 PM GMT

लेडी सिंघम श्रेष्ठा ने जालसाज को दिखाई उसकी असली जगह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच : डीएम का स्टेनो बनकर जालसाजी करने वाले एक नटवरलाल को रिसिया सीओ श्रेष्ठा ठाकुर ने गिरफ्तार कराया है। वह डेढ़ साल पहले लौकी गांव में हुई दलित किशोर की हत्या के मामले में शासन से पीड़ित परिवार को मिली लाखों की धनराशि में हिस्सा मांग रहा था। पकड़ा गया नटवरलाल बीते कई दिनों से पीड़ित परिजनों को गुमराह कर रुपये ऐंठने की फिराक में था। पीड़ित परिवार ने मामले की शिकायत सीओ रिसिया से की थी। मामले में कार्रवाई शुरू हुई तो नटवरलाल पुलिस की गिरफ्तार में आ गया। आरोपित नटवरलाल को जेल भेज दिया गया है।

सीओ श्रेष्ठा ठाकुर के मुताबिक रिसिया थाना क्षेत्र अंतर्गत लौकाही गांव निवासी अनिल पुत्र राधेश्याम की डेढ़ वर्ष पहले हत्या हो गई थी। इस मामले में राधेश्याम की नामजद तहरीर पर रिसिया थाना क्षेत्र के भोपतपुर निवासी सलीम पुत्र लाला व मुल्हे पुत्र शमीम के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। उन्होनें ने बताया कि दलित हत्या मामले में शासन की ओर से बीते 30 दिसंबर को राधेश्याम के पंजाब नेशनल बैंक के एकाउंट (185700010150819) में चार लाख 10 हजार रूपये भेजे गए थे। लेकिन शासन द्वारा भेजे गए इस मुआवजे की धनराशि पर एक नटवरलाल की नजर लग गयी। नटवर लाल ने खुद को डीएम अजयदीप सिंह का स्टेनो बताकर परिवार पर दबाव बनाने लगा।

पीड़ित ने इस बाबत रिसिया क्षेत्राधिकारी श्रेष्ठा सिंह को शिकायती पत्र सौपकर कार्रवाई की मांग की और पूरे प्रकरण से उन्हें अवगत कराया। बताया कि एक व्यक्ति ने खुद को डीएम का स्टोनो बताकर उससे दो लाख रूपये मांगे हैं। सीओ ने बताया कि वह कई दिनों से पीड़ित के संपर्क में रहकर ठगी का प्रयास करने वाले नटवर लाल की गतिविधियों के साक्ष्य एकत्रित कर रही थी। सोमवार को फिर पीड़ित से पैसे देने का दबाव बनाते हुए नटवरलाल ने बहराइच आने की बात कही। जिसकी सटीक सुरागसी होने के बाद सीओ ने पुलिस फोर्स के साथ नटवरलाल को गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान दरगाह थाना अन्तर्गत दरगाह मोहल्ला निवासी रामसूरत पुत्र राम खेलावन के रूप में हुई।

पकड़े गए आरोपित के पास से राधेश्याम की बैंक पास बुक भी बरामद की गई है। उन्होनें बताया कि पकड़े गए युवक से पूछताछ की जा रही है। इस मामले में जल्द बड़ा खुलासा भी हो सकता है। हालांकि पूछताछ के बाद आरोपित को जेल भेज दिया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story