Top

मेरठ में करोडों की ठगी करने वाला गैंग गिरफ्तार, राइस पुलर बताकर करते थे ठगी

By

Published on 25 Aug 2017 5:07 AM GMT

मेरठ में करोडों की ठगी करने वाला गैंग गिरफ्तार, राइस पुलर बताकर करते थे ठगी
X
मेरठ में करोडों की ठगी करने वाला गैंग गिरफ्तार, राइस पुलर बताकर करते थे ठगी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: गंगानगर थाना क्षेत्र में करोड़ों की ठगी करने वाला गिरोह गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी राइस पुलर इरीडियम बताकर करोडों रूपयों की ठगी करते थे। पुलिस ने छापेमारी के दौरान आरोपियों के कमरे से बम जैसी दिखने वाली धातु और ज्वलनशील केमिकल बरामद किया है। वहीं गैंग का मुख्य आरोपी समेत एक युवक फरार हो गया है।

क्या है पूरा मामला

-गंगानगर के एल ब्लॉक में कसेरू बक्सर के रहने वाले धर्मपाल का मकान है। मकान नंबर-618 उन्होंने किराए पर दिया हुआ है। कुछ युवकों ने मकान को किराए पर लिया हुआ है।

-जानकारी के मुताबिक गंगानगर पुलिस ने मकान पर छापा मारा। मकान से बम जैसी दिखने वाला सामान बरामद हुआ है।

-पुलिस ने आदर्श अग्निहोत्री निवासी नौबस्ता कानपुर, इमरान निवासी औरंगाबाद भावनपुर, नौशाद निवासी नंगलामल और आनंद निवासी उज्जैन को गिरफ्तार किया है।

-एसपी देहात राजेश कुमार समेत पुलिस अधिकारियों मौके पर पहुंचे। जांच के दौरान पता चला कि बम नहीं है।

-आरोपी इरीडियम बनाने वाले गैंग से जुड़े हुए हैं। पुलिस मकान से केमिकल, कांच के जार, एंटी रेडिएशन की ड्रेस और कई बॉक्स बरामद किए हैं।

-वहीं आरोपियों के पास से एक डस्टर गाड़ी, एक स्कूटी और एक बाइक भी मिली है। वहीं मुख्य आरोपी हनी निवासी थापरनगर सदर और शहजाद निवासी मुंडाली फरार है।

-राजीव और विक्रम निवासी दिल्ली मुख्य आरोपियों के साथ गंगानगर से फरार हो गए। राजीव और विक्रम मुंबई से आए थे। राजीव और विक्रम राइस पुलर को खरीदने वाले थे।

आगे की स्लाइड में जानिए क्या सामान बरामद हुआ आरोपियों के कमरे से

ये मिला आरोपियों के कमरे से

-आरोपियों के कमरे से केमिकल मिला है। जो कि बम का सामान भी हो सकता है। पुलिस के अनुसार वेगर रेडान रेडिएशन नाम लिखी छह बोतलें, फ्लू बेंजिल डीहाइड्राइड, ब्रोनिंक एसिड, प्रोमीथिनोल मिली है।

-यह केमिकल और धातु एसिड बम बनाने के सामान में काम आना बताया जा रहा है। जिसकी जांच की जा रही है।

-हालांकि पुलिस के मुताबिक खतरनाक केमिकल के जादू से ठगों का करोड़ों का धंधा देशभर में चलना बताया है। इनका नेटवर्क दिल्ली और मुंबई तक फैला है।

क्या बोली पुलिस

-एसपी देहात राजेश कुमार के अनुसार मेरठ के अलावा दूसरे राज्यों में लोगों को ठगने वाला गैंग पकड़ा जा चुका है।

-ठग खतरनाक केमिकल से जादू का दावा करके लोगों से लाखों रुपए कमा चुके हैं।

-चुंबकीय धातु और रेडिएशन का जादू बताकर राम दरबार, राम लक्ष्मण, सीता और अन्य देवी-देवताओं को चावल खिलाने का दावा करते हैं।

-नासा और बड़े शहरों के रिसर्च सेंटर में इसे साबित करने बात कहते हैं। जिसके बाद लोगों से ठगी करते हैं। पुलिस के मुताबिक कई राज्यों में ठगी के मामले आए हैं।

-जांच पड़ताल के बाद जांच टीम पूरे सामान को थाने ले आई है। फिलहाल जांच की जा रही है।

-वहीं गंगानगर में बम फैक्ट्री पकड़ने की अफवाह से हड़कंप मचा रहा। आतंकी के पकड़े जाने की अफवाह भी रही।

Next Story