Top

इलाहाबाद विवि: हॉस्टल वाश आउट के दौरान फिर फेंके गये बम, शिक्षक आवास पर भी बमबाजी

जिस समय सर सुंदर लाल छात्रावास व डायमंड जुबली हॉस्टल में वाश आउट की कार्यवाही की जा रही थी, उसी समय हॉस्टल के गेट पर देशी बमों के धमाके किये गये। इससे पहले कि हॉस्टल में मौजूद पुलिस मौके पर पहुंचती अराजक तत्व फरार हो गये।

zafar

zafarBy zafar

Published on 25 May 2017 6:25 PM GMT

इलाहाबाद विवि:  हॉस्टल वाश आउट के दौरान फिर फेंके गये बम, शिक्षक आवास पर भी बमबाजी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इलाहाबाद: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी हॉस्टल वाश आउट के दौरान गुरुवार को एक बार फिर अराजक तत्वों ने बमबाजी कर दहशत फैलाने की कोशिश की। जिस समय यूनिवर्सिटी के सर सुंदर लाल छात्रावास और डायमंड जुबली हॉस्टल में वाश आउट की कार्यवाही जारी थी, उसी समय हॉस्टल के गेट पर एक के बाद एक, दो देशी बम फेंक कर दहशत फैलाने की कोशिश की गई।

इससे पहले मंगलवार को हॉलैंड हॉस्टल खाली कराने के समय भी अराजक तत्वों ने बमबाजी की थी।

फिर बमबाजी

हाई कोर्ट के आदेश के तहत गुरुवार को एक बार फिर इलाहाबाद विश्वविद्यालय में वाश आउट की कार्यवाही की गई। लेकिन जिस समय सर सुंदर लाल छात्रावास व डायमंड जुबली हॉस्टल में वाश आउट की कार्यवाही की जा रही थी, उसी समय हॉस्टल के गेट पर देशी बमों के धमाके किये गये। इससे पहले कि हॉस्टल में मौजूद पुलिस मौके पर पहुंचती अराजक तत्व फरार हो गये।

चीफ प्रॉक्टर ने बताया कि धमाका जोरदार था। उन्होंने यह भी कहा कि बीती रात भी सुंदर लाल हॉस्टल में कई बम विस्फोट किये गये। वहीं, चैथम लाइंस स्थित टीचर्स क्वार्टर्स में भी कई बम फेंक कर दहशत फैलाने की कोशिश की गई। लेकिन इससे हॉस्टल वाश आउट की कार्यवाही पर कोई फर्क नहीं पड़ा।

वाश आउट का विरोध

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कहा कि जिस तरह इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यूनिवर्सिटी के हॉस्टलों के संबंध में प्रतिक्रिया दी है, कि वहां अराजक तत्वों का कब्जा है, इसे सिलसिलेवार बमबाजी ने साबित कर दिया है। यूनिवर्सिटी के हॉस्टल और टीचर्स क्वार्टर पर की गई बमबाजी को लेकर थाने में एफआईआर दर्ज कराई जा रही है।

गौरतलब है कि इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश के तहत 21 से 27 मई के बीच यूनिवर्सिटी के सभी हॉस्टलों को खाली कराने के लिए जिला प्रशासन और यूनिवर्सिटी प्रशासन की ओर से वाश आउट की कार्यवाही की जा रही है। गुरुवार को कार्यवाही के दौरान छात्रों ने डायमंड जुबली हॉस्टल गेट पर यूनिवर्सिटी प्रशासन और राज्य सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाजी व प्रदर्शन कर विरोध जताया। बहरहाल, यूनिवर्सिटी प्रशासन ने दोनों हॉस्टलों के सभी कमरों को खाली करवा कर उनमें ताला लगा दिया है।

zafar

zafar

Next Story