Top

दलित महिला के साथ हुआ गैंगरेप, पुलिस ने नहीं दर्ज की रिपोर्ट

Admin

AdminBy Admin

Published on 13 March 2016 4:59 AM GMT

दलित महिला के साथ हुआ गैंगरेप, पुलिस ने नहीं दर्ज की रिपोर्ट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बांदाः महिलाओं को सुरक्षा देने के प्रशासन के सभी फरमान खाकी के आगे बौने हो चुके हैं। बांदा में पुलिस की संवेदनहीनता एक बार फिर उजागर हुयी है। गैंगरेप की पीड़ित दलित महिला थाने में अपनी आपबीती बताते बेहोश हो गई, लेकिन पुलिस ने पीड़िता को न्याय देना तो दूर उसकी बात सुनना तक गंवारा नहीं समझा। पीड़िता के समर्थन में आई महिलाओं ने नरैनी थाने में ही घेरा डाल दिया है।

क्या है मामला

-नरैनी थाना क्षेत्र की एक महिला ने NGO संचालक आशीष सागर सहित एक अज्ञात व्यक्ति पर गैंगरेप का आरोप लगाया है।

-एनजीओ संचालक ने लोहिया आवास दिलाने के नाम पर 10 हजार रुपए की मांग की थी।

-पैसा देने से मना करने पर रात में आरोपी अपने साथी के साथ पीड़िता के घर आया।

-उसे अकेली पाकर मुंह में कपडा ठूंस कर बारी-बारी से बलात्कार किया।

-किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

-इसके बाद इस बेबस महिला को पुलिसिया दुत्कार का भी शिकार होना पड़ा।

-पुलिस अब गैंगरेप की रिपोर्ट तक दर्ज करने को तैयार नहीं हैं।

-बेबस महिला थाने में ही अपनी आपबीती बताते बेहोश तक हो गयी।

-लेकिन उसकी एफआईआर तक नहीं दर्ज की गयी।

क्या कहना है महिलाओं का

-पीड़िता ने न्याय न मिलने पर कोतवाली में ही जान देने की बात कही है।

-पीड़िता की एफआईआर दर्ज न होने पर महिला समाजसेवियों ने भी पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की।

-महिलाओं ने कहा कि जब तक पीड़िता की रिपोर्ट दर्ज कर कार्यवाही नहीं की जाती वो थाने से नहीं जायेंगी।

क्या कहती है पुलिस

सीओ नरैनी राकेश मिश्रा का कहना है कि जांच के बाद कार्यवाही की जायेगी।

Admin

Admin

Next Story