Top

लापता छात्रों के शव बरामद, प्रेम प्रसंग में हुई थी दोनों की हत्या, तांत्रिक गिरफ्तार

अय्यूब ने बाबर को ताबीज लेने के लिए नोएडा सेक्टर 63 स्थित अपने मदरसे में बुलाया। बाबर अपने साथ सद्दाम को लेकर अय्यूब के पास पहुंचा, जहां अय्यूब ने दोनों को कोल्ड ड्रिंक में बेहोशी की दवा दे दी। दोनों बेहोश हो गए तो वहां छिपे हैदर ने दोनों की गला दबाकर हत्या कर दी।

zafar

zafarBy zafar

Published on 15 April 2017 4:08 PM GMT

लापता छात्रों के शव बरामद, प्रेम प्रसंग में हुई थी दोनों की हत्या, तांत्रिक गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: मुंडाली थाना क्षेत्र के जिसौरा गांव निवासी जामिया के छात्रों की मौत का राज खुल गया है। लापता छात्रों के शव गाजियाबाद में मसूरी गांव के पास झाडियों से बरामद हो गए है। पुलिस ने मामले में दो आरोपियों में से एक तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया है।

तांत्रिक की करतूत

मुंडाली के जिसौरा गांव निवासी बाबर और सद्दाम दिल्ली के जामिया विवि के छात्र थे।

दोनों 10 अप्रैल को जिसौरा से दिल्ली गये थे और पहुंचने के बाद घरवालों उनकी बातचीत हुई थी।

कुछ देर बाद ही एक कॉल पर अपहरण की सूचना मिली और करीब पौने 80 लाख की फिरौती मांगी गई।

बाबर की कॉल डिटेल से पुलिस को पता चला कि बाबर ने आखिरी कॉल अय्यूब को की थी। अय्यूब तांत्रिक था।

पुलिस ने तांत्रिक अय्यूब समेत बाबर के कुछ रूम मेट्स को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था।

आखिर दो दिन की पूछताछ और सख्ती पर अय्यूब ने सब उगल दिया।

अय्यूब की निशानदेही पर गाजियाबाद के मसूरी गांव के पास नहर की झाड़ियों से सद्दाम और बाबर की लाशें बरामद कर ली गईं।

प्रेम प्रसंग में गई जान

तंत्रिक अय्यूब ने पुलिस को बताया कि बाबर का गांव की ही एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था और वह उससे शादी करना चाहता था।

लेकिन युवती का गांव के ही शादीशुदा हैदर से भी चक्कर था, और वह भी युवती को छोड़ने को तैयार नहीं था।

हैदर ने अय्यूब को लालच दिया कि अगर वह बाबर को नोएडा अपने कार्यालय में बुला ले तो वह उसे दस लाख रूपये देगा।

अय्यूब ने साजिश रच कर बाबर से कहा कि वह उसे ऐसा तावीज बनाकर दे सकता है, जिससे उसकी प्रेमिका उसके वश में हो जाएगी।

10 अप्रैल को अय्यूब ने बाबर को तावीज लेने के लिए नोएडा सेक्टर 63 स्थित अपने मदरसे में बुलाया।

बाबर अपने साथ सद्दाम को लेकर अय्यूब के पास पहुंचा, जहां अय्यूब ने दोनों को कोल्ड ड्रिंक में बेहोशी की दवा दे दी।

बाबर और सद्दाम बेहोश हो गए तो वहां छिपे हैदर ने दोनों की गला दबाकर हत्या कर दी।

इसके बाद दोनों आरोपी लाशों को मसूरी की नहर में ठिकाने लगाने के लिए ले गए।

लेकिन शव नहर में न गिरकर झाड़ियों में गिर गए। इसके बाद दोनों घबराकर भाग गए।

पुलिस ने इस मामले में अय्यूब को गिरफ्तार कर लिया है। फरार मुख्य आरोपी हैदर की तलाश की जा रही है।

zafar

zafar

Next Story