Top

दहेज़ के लिए प्रताड़ित की गई बहन को इंसाफ दिलाने थाने पहुंचा किन्नर भाई

By

Published on 2 Aug 2017 6:58 AM GMT

दहेज़ के लिए प्रताड़ित की गई बहन को इंसाफ दिलाने थाने पहुंचा किन्नर भाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: सहजनवा थाना क्षेत्र के लखनापार में किन्नर के बहन की शादी हुई थी। शादी के बाद दहेज के लिए पत्नी को हमेशा मारता-पीटता था, जिसको लेकर एक दर्जन किन्नरों ने न्याय के लिए थाने पहुंचकर न्याय की गुहार लगाई।

न्याय के लिए किन्नर थाने पर पहुंचे

मिली जानकारी के अनुसार किनवार थाना कैम्पियरगंज निवासी सपना उर्फ भोलू ने अपनी बहन वंदना की शादी 2013 में सहजनवा थाना क्षेत्र लखनापार निवासी रामकिशुन पुत्र भुआस के साथ की थी। तीन साल बाद उसका गौना गया था।

पीड़िता का आरोप है कि एक साल भी नहीं बीता था कि पति मोटरसाइकिल और 50 हजार रुपए की मांग करने लगा। जिसके लिए आए दिन पीड़िता को मारता-पीटता रहता था। जिसकी शिकायत पीड़िता ने अपने परिजनों से की थी। परिजन कई बार लड़की के ससुराल पहुंचकर समझौता करने की कोशिश किए, लेकिन पति इनसे भी दहेज की मांग करता रहा ।

किन्नर भाई से की शिकायत

एक हफ्ते पहले पति ने दहेज के लिए विवाहिता की खूब पिटाई की। इसके बाद वह सपना चली गई। जब बहन के प्रताड़ित करने की सूचना भाई किन्नर सपना उर्फ भोला को हुई, तो वह अपने साथी किन्नर पलवी त्रिपाठी, शांति, राखी, रेशमा, निशा, साधना, प्रिया सहित दर्जन किन्नर लड़की को न्याय दिलाने के लिए थाने पहुंचा। सबकी मौजूदगी में पीड़िता ने पति के खिलाफ दहेज मांगने और मारपीट कर घर से निकाल देने की तहरीर दी है।

इस संबंध में सहजनवा थाने के थानेदार ने तहरीर ले ली है और उचित कार्रवाई की बात कही है। तब जाकर किन्नरों ने थाने से हटने का मन बनाया, लेकिन किन्नरों ने जल्द से जल्द कार्रवाई करने की बात कही है।

Next Story