Top

सुंदर भाटी का शूटर अंकित गिरफ्तार, पुलिस की हिरासत से हुआ था फरार

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 Jun 2016 8:18 PM GMT

सुंदर भाटी का शूटर अंकित गिरफ्तार, पुलिस की हिरासत से हुआ था फरार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडाः गैंगस्टर सुंदर भाटी का शूटर अंकित गुर्जर शनिवार को मुठभेड़ के बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गया। उस पर 15 हजार रुपए का इनाम है। अंकित बीती 25 अप्रैल को पुलिस की हिरासत से फरार हो गया था। मुठभेड़ में उसके पैर में गोली लगी है। पुलिस टीम को डीजीपी जावीद अहमद ने 50 हजार रुपए बतौर इनाम देने का एलान किया है।

कौन है अंकित गुर्जर?

-सुंदर भाटी गैंग का प्रमुख शूटर रहा है।

-सुंदर के निर्देश पर कई हत्याएं कर चुका है।

-दादरी में बीजेपी नेता विजय पंडित की भी हत्या की थी।

कहां हुई मुठभेड़?

-एसएसपी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि अंकित और संजय गुर्जर को पकड़ा गया है।

-नोएडा एक्सटेंशन के पास मिलकलक्षी गांव के पास वैगन आर कार में सवार दिखा।

-पुलिस ने चुनौती दी तो उसने फायरिंग की, जवाब में पुलिस ने भी गोली चलाई।

-अंकित और संजय गिरफ्तार किए गए, दूसरी कार में सवार बदमाश भाग निकले।

-अंकित के पास से विदेशी पिस्टल मिली है।

अंकित ऐसे हुआ था फरार

-अंकित गुर्जर को एसटीएफ ने 2014 में गिरफ्तार किया था।

-महराजगंज की जेल में कैद था अंकित।

-25 अप्रैल को पेशी के लिए ग्रेटर नोएडा लाया गया था।

-अपने रिश्तेदार के यहां फ्रेश होने गया और फरार हो गया था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story