Top

Etah Crime News: बदला लेने के लिए सेल्समैन ने खुद के अपहरण की रची थी साजिश

Etah News: तीन दिन पहले हुई देशी शराब के ठेके की लूट व सेल्समैन अपहरण कांड का हुआ खुलासा

Sunil Mishra

Sunil MishraWritten By Sunil MishraPallavi SrivastavaPublished By Pallavi Srivastava

Published on 16 Jun 2021 10:26 AM GMT

Etah Crime News: बदला लेने के लिए सेल्समैन ने खुद के अपहरण की रची थी साजिश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Etah Crime News: एटा जिले में तीन दिन पहले हुई देशी शराब के ठेके से 30 पेटी शराब की चोरी व सेल्समैन के अपहरण की बात किसी के गले उतर नहीं रही थी। पुलिस ने भी कमर कस ली थी कि मामले की गुत्थी को जल्द से जल्द सुलझा लेगें। और इसी प्रक्रिया में पुलिस ने मामले का कच्चा चिट्ठा खोल के रख दिया। पुलिस के मुताबिक मालिक से बदला लेने की नियत से सेल्समैन ने खुद के अपहरण की साजिश रची थी। भाई व साथियों के साथ मिलकर अपहरण का नाटक कर तीस पेटी शराब चोरी कराई थी। पुलिस ने मास्टरमांइड सेल्समैन सहित तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

बता दें कि घटना क्रम के अनुसार 13 जून को थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के ग्राम पवास पर स्थित देशी शराब की दूकान पर से 30 पेटी शराब व सैल्समैन के अपहरण की सूचना दुकान के संचालक अनिल मिश्रा द्वारा थाना कोतवाली देहात पर दी गयी। जिसमें 12 जून की रात्रि में कुछ अज्ञात बदमाश द्वारा वादी की पवांस स्थित देशी शराब की दुकान का ताला काटकर उसमें से 30 पेटी मस्तीह ब्रांड की लूट लेने साथ ही दुकान के सेल्समेन विजय यादव उर्फ रिंकू निवासी रामनगर ओरनी थाना मारहरा एटा उम्र करीब 20 वर्ष का अपहरण करने की.सूचना दी गयी।

इस सूचना पर थाना कोतवाली देहात पर मुअसं- 211/2021 धारा 392, 364 भादंवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह .ने बताया कि 14 जून को थाना कोतवाली देहात पुलिस तथा जनपदीय स्क्वाट टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर उक्त घटना की विवेचना से प्रकाश में आये मुख्य आरोपी रिंकू सहित तीन अभियुक्तों को अलीगंज से बाबरपुर जाने वाले तिराहे के पास से समय करीब साढ़े 6 बजे पुलिस हिरासत में लिया गया। अभियुक्तों की तलाशी में उनके पास से 9000 रुपये नकद बरामद किए गये। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि अनिल मिश्रा के शराब के ठेके पर जो चोरी हुई है वह उन लोगों ने रिंकू उर्फ विजय की प्लानिंग के तहत की थी। तथा जो रुपये बरामद हुये हैं वे उसी शराब बिक्री के एडवांस लिये गये 10 हजार रुपये में से बचे हैं। उक्त मुकद्दमा को विवेचना के बाद तथ्यों के आधार पर उपरोक्त को धारा 380, 457, 411, 120बी भादंवि में तरमीम किया गया है। तीन की गिरफ्तारी कर उन्हें जेल भेजा जा रहा है तथा दो अभियुक्त अभी शेष है जिनके पास चोरी की गयी शराब है उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।


ऐसे दिया घटना को अंजाम

घटना क्रम के अनुसार ग्राम पवांस स्थित अनिल मिश्रा की देशी शराब की दुकान पर रिंकू उर्फ विजय सेल्समैन का कार्य करता था। जिसे घटना से करीब 6-7 दिन पूर्व अनिल मिश्रा ने अपनी दुकान पर से हटा दिया था। तो रिंकू को दुकान से हटा देने पर रिंकू के पिता ने काफी अनुनय-विनय करके उसके स्थान पर उसके छोटे भाई को दुकान पर सेल्समैन की नौकरी पर रखवा दिया। इसी बात से क्षुब्ध होकर रिंकू ने यह साजिश रची और दुकान में चोरी करने की योजना बनाई। और प्लानिंग के तहत 12 जून की शाम को रिंकू ने दुकान बंद कर चाबी अपने भाई अजय को दे दी और शटर का ताला तोड़ने के लिये अजय को बेलचा आदि उपलब्ध कराकर रिंकू रात्रि में दुकान पर रुकने के स्थान पर अपने घर ओरनी चला गया।

इसी बीच रात्रि में अजय ने अपने मित्रों वीरु, लव तथा लव के परिचित एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर दुकान का ताला तोड़कर उसमें रखी 30 पेटी शराब चोरी कर ली। लव व उसके साथी द्वारा लाई गयी गाड़ी में रखकर लव ने ले जाकर किसी व्यक्ति को बेच दी और एडवांस में 10 हजार रुपये ले आये। प्लानिंग के तहत अजय ने दुकान की चाबी वहीं दुकान के सामने फेंक और सुबह पहुंचकर पड़ोसी दुकानदार सतीश फौजी के फोन से अपने फोन पर तीन मिसकाल की थी तथा अपने मालिक अनिल मिश्रा को भी दुकान में चोरी तथा अपने छोटे भाई के अपहरण की सूचना दी। घटना की सूचना पर स्थानीय पुलिस तथा उच्चाधिकारियों द्वारा तत्काल घटनास्थल का निरीक्षण किया गया और आसपास के लोगों से पूछताछ करने पर संदेह की स्थिति उत्पन्न हुयी। इसी शक के आधार पर पुलिस अभियुक्तों तक पहुॅचीं।

प्रभारी निरीक्षक कोतवाली देहात जगदीश चन्द्र ने बताया कि चोरी की गई शराब फरार अभियुक्त लव द्वारा किसी व्यक्ति को दी गई है। अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु सार्थक प्रयास किये जा रहे हैं। पुलिस ने योजना वद्द तरीके से घटना को अंजाम देने वाले और अपहरण का नाटक करने वाले रिंकू उर्फ विजय यादव पुत्र रामनरेश निवासी ग्राम ओरनी रामनगर थाना मारहरा एटा तथा उसका भाई अजय कुमार एवं वीरु उर्फ वीनू पुत्र सूरजपाल निवासी पवांस थाना कोतवाली देहात एटा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। बाकी बचे लोगों की तलाश के लिए दबिश दी जा रही है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story