Top

लाल स्विफ्ट कार गैंग का खुलासा: शौक पूरा करने के लिए करते थे लूटपाट, चार गिरफ्तार

पुलिस बीते आठ दिनों से तीन घटनाओं को अंजाम देने वाले एक गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

Sunil Mishra

Sunil MishraReporter Sunil MishraAshiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 14 May 2021 3:18 PM GMT

Etah Police
X

स्विफ्ट कार सवार गैंग का खुलासा (Photo-Social Media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

एटा: जनपद के थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक सुभाष कठेरिया व कोतवाली देहात तथा स्वाट टीम ने बीते आठ दिनों से तीन घटनाओं को अंजाम देने वाले एक नये नवेले शातिर गैंग के चार सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पुलिस ने बदमाशों से अवैध असलाह स्विफ्ट डिजायर कार दो झुमकी एक अंगूठी व 12400 नगदी प्राप्त की है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शंकर ने बताया जनपद मे एक आल स्विफ्ट कार सवार लुटेरो ने 2 मई 8 मई 10 मई को थाना कोतवाली नगर व देहात क्षेत्र के रेलवे पुल के नीचे व शिकोहाबाद रोड पर एक वाइक सवार दम्पत्ति से नगदी व जेवर लूटलियेथे। वहीं एक अन्य घटना कोतवाली देहात क्षेत्र के एटा निधौली मार्ग पर भी घटी। बदमाशों ने 8 दिन में तीन घटनाओं को अंजाम दिया गया।

उन्होंने बताया कि इन पांच दोस्तों ने मिलकर शौक मौज के पैसों के खर्च के लिये एक गेंग बनाया जिनमें से दो अभियुक्त वर्ष 2020 में मोटरसाइकिल चोरी में जेल जा चुके है। वहीं तीन अभियुक्त अभी इस क्षेत्र मे फ्रेश है जिनका कोई आपराधिक इतिहास नहीं है। जिनमें से एक वी ए द्रितीय वर्ष का छात्र है।

पकडे गये अभियुक्तों में संजेश यादव निवासी ग्राम टोली जनपद हाथरस व दूसरा जीतू यादव निवासी श्याम नगर एटा तीसरा अमित यादव निवासी ट्यूलिप स्कूल के पास एटा चौथा मोहित यादव निवासी चोंचा वन गांव एटा को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। वहीं एक अभियुक्त अभी भी फरार हैं।

उन्होंने बताया कि एटा व आसपास के निवासी कुछ युवाओं ने एक गैंग सिर्फ इसलिए बनाया कि परिजनों द्वारा उनके शौक मौज पहनने व खर्च करने के लिए पैसे नहीं दिये जाते थे और वह दो हजार के जूते जीन्स पहनने और खर्च के लिये परेशान रहते थे। पांच मित्रो द्वारा एक गैंग बनाया और लगातार एटा शहर के आस पास तीन लूट की घटनाओं को अंजाम दे कर एटा पुलिस को चुनौती दे दी। लूट को अंजाम देने के लिए आइडिया इन लोगों द्वारा यू टयूव चैनल पर देखकर लिया गया और एक प्लानिंग के तहत छोटी छोटी घटनाओं को अंजाम दिया ताकि जल्दी किसी की पकड में न आये। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उदय शंकर सिंह ने गैंग का खुलासा करने वाली टीम को 5000 रूपये पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है।

Ashiki

Ashiki

Next Story