Top

Hello! मैं DIG बोल रहा हूं कहकर महिला पुलिसकर्मियों के साथ करता था गंदी बात, जानिए फिर हुआ ...

sujeetkumar

sujeetkumarBy sujeetkumar

Published on 6 March 2017 12:54 PM GMT

Hello! मैं DIG बोल रहा हूं कहकर महिला पुलिसकर्मियों के साथ करता था गंदी बात, जानिए फिर हुआ ...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलंदशहर: महिला पुलिसकर्मियों को धमकाने और अश्लील बाते करने वाले फर्जी डीआईजी को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। आरोपी अपने आप को डीआईजी आलोक सिंह बताकर महिला पुलिसकर्मियों को फोन करता था और उन्हें धमकाता था। महिला एसओ की शिकायत के बाद सर्विलांस की टीम ने फर्जी डीआईजी को सोमवार (6 मार्च ) को अरेस्ट किया है।

'HELLO! मैं डीआईजी आलोक सिंह बोल रहा हूं।'

-यह शब्द डीआईजी आलोक सिंह के नहीं, बल्कि दिल्ली में सिक्योरिटी गार्ड सुनील पांडे के है।

-पुलिस अधिकारी और महिला पुलिसकर्मियों को डीआईजी बताकर ये शख्स उन्हें धमकाता था।

-इतना ही नहीं वह महिला पुलिसकर्मियों से अश्लील बाते भी करता था, और दूसरी महिला पुलिसकर्मी के बारे में जानकारी भी लेता था। कथित डीआईजी आलोक कुमार सिंह उर्फ सुनील पांडे शराब पीने का आदी है।

-पुलिस की मानें तो आरोपी शराब के नशे में महिला पुलिसकर्मियों से बात करता है।

मैं साधारण नागरिक हूं और न ही मेरी कोई समस्या है

-23 फरवरी को महिला थानाध्यक्ष के सीयूजी नंबर (9454404784) पर और मोबाईल नं. (9205661314) से फोन आया।

-फोन करने वाले ने अपने आप को महिला हैल्प लाइन-1090 से डीआईजी आलोक सिंह बताया।

-डीआईजी ने मोबाईल नं0-9793341356 पर संपर्क करने और उनकी समस्या को दूर करने के लिए कहा।

-महिला पुलिस कर्मी ने मोबाइल नंबर पर संपर्क किया और परेशानी पूछी तो मोबाइल धारक ने अपना नाम राहुल तिवारी, सिद्धार्थनगर बताया। साथ ही बताया कि मैनें किसी डीआईजी को फोन नहीं किया है।

-मैं साधारण नागरिक हूं और न ही मेरी कोई समस्या है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें जब फ़ोन कर बोला महिला पुलिसकर्मी से मेरी बात कराओ ...

जान से मारने की धमकी भी दी

-महिला पुलिसकर्मी ने डीआईजी के फोन नंबर (9205661314) पर संपर्क किया।

-कथित डीआईजी ने उनके साथ अश्लील भाषा का प्रयोग किया।

-यह भी कहा कि महिला कांस्टेबल प्रियंका, पूनम और नीलम से कहो कि मुझसे बात करें।

-25 फरवरी को फर्जी डीआईजी ने 100 नंबर पर फोन करके महिला थानाध्यक्ष से बात कराने के लिए कहा।

-महिला पुलिसकर्मी को नंबर परिचित सा लगा, इसलिए महिला थानाध्यक्ष ने महिला कांस्टेबल से उक्त नंबर पर कॉल करने को कहा।

-फोन करने पर कथित डीआईजी ने महिला पुलिस कर्मी के साथ अश्लील शब्दो का प्रयोग कर गाली गलौच की।

-साथ महिला पुलिसकर्मियों को धमकाया और जान से मारने की धमकी भी दी।

रेलवे स्टेशन से अरेस्ट हुआ ‘डीआईजी’

-एसपी सिटी मानसिंह चौहान ने बताया कि फर्जी डीआईजी को कोतवाली नगर पुलिस ने बुलंदशहर रेलवे स्टेशन से अरेस्ट किया है।

-पुलिस ने सर्विलांस की मदद से आरोपी सुनील पांडे को अरेस्ट किया।

-पुलिस ने बताया कि सुनील पांडे मनोरतपुर थाना महदावल के संतकबीरनगर का रहने वाला है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें क्या है नकली डीआईजी का असली काम

दिल्ली में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है

-सुनील पांडे नाम का यह शख्स 4 सालों से कैलाशपुरी, दिल्ली में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है।

-सुनील नशे का आदी है और अपना रौब जमाने के लिए महिला अधिकारियो और महिला पुलिसकर्मियों के मोबाईल नंबरों पर फोन कर अश्लील शब्दों का प्रयोग करते हुए उन्हें धमकाया था।

-पुलिस की मानें तो यह आरोपी इस तरह की घटना 40 जिलों में कर चुका है, लेकिन पुलिस के हाथ नहीं लग पाया था।

एसपी सिटी मानसिंह चौहान के मुताबिक

-आरोपी फोन पर पुलिस अधिकारी और महिला पुलिसकर्मियों को धमका चुका है।

-बुलंदशहर पुलिस ने सर्विलांस, सीडीआर, आईडी और लोकेशन की मदद से कथित डीआईजी को पकडने में सफलता हासिल की है।

sujeetkumar

sujeetkumar

Next Story