Top

सहारनपुर में चल रहा था पैथोलॉजी लैब के नाम पर फर्जीवाड़ा, कईयों को ठगा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 17 Jan 2018 2:26 PM GMT

सहारनपुर में चल रहा था पैथोलॉजी लैब के नाम पर फर्जीवाड़ा, कईयों को ठगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सहारनपुर : एक पैथोलॉजी लैब पर स्वास्थ्य विभाग की टीम की छापेमारी से हड़कंप मच गया। टीम ने लैब संचालक को हिरासत में लिया है लैब पर रखे सामान को जब्त कर लिया गया है। छापेमारी के दौरान फर्जी तरीके से चल रही अन्य लैब बंद नजर आई।

नानौता कस्बे के गांव भारी बस स्टैंड मार्ग पर उस समय हड़कंप मच गया, जब हरियाणा की स्वास्थ्य विभाग की टीम पुलिस बल के साथ मोहल्ला कानूनगोयान स्थित जयश्री पैथोलॉजी लैब पर पहुंची। भारी संख्या में तैनात पुलिस बल को देखकर मौके पर नगरवासियों की भारी भीड़ जमा हो गयी। टीम ने लैब संचालक सुखविंदर को सहारनपुर से हिरासत में लिया था। पूछताछ के दौरान सुखविंदर ने रामपुर मनिहारान एवं नानौता में अपनी लैब होने की बात कही, जिस पर टीम ने दोनों जगह छापेमारी की। तहसीलदार रमेशचंद्र सैनी ने जानकारी देते हुए बताया कि उक्त लैब पर गैरकानूनी तरीके से अल्ट्रासाउंड एवं भ्रूण जांच के नाम पर लोगों को ठगा जाता था।

बताया जा रहा है कि जांच के दौरान लैब पर एक फर्जी मशीन जो कि अल्ट्रासाउंड मशीन की तरह दिखाई देती है, पाई गयी है। जिसे टीम ने अपने कब्जे में लिया है। इसके अलावा नगर स्थित लैब से एक लैपटॉप एवं जांच के अन्य उपकरण भी कब्जे में लिए गए हैं। आरोपी संचालक द्वारा भ्रूण जांच के नाम पर लोगों को ठगा जाता था। आरोपी लैब संचालक अभी तक लोगों से भारी रकम ऐंठ चुका है। मामला नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। टीम की छापेमारी के दौरान नगर में बहुत सी लैब बंद देखी जा रही थी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story