पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने किया पथराव CO सहित कई घायल, जवाब में पुलिस ने भांजी लाठियां

सुल्‍तानपुर: उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर में शनिवार को ग्रामीणों ने खाकी पथराव कर दिया, जिसमें दरोगा समेत कई पुलिस कर्मी जख्मीं हो गए। जवाब में पुलिस ने लाठियां भांजी जिसके बाद मामला तूल पकड़ गया। इलाहाबाद-फैजाबाद नेशनल हाइवे को जाम कर औरत-मर्द लाठियां लेकर डट गए। जिस व्यक्ति की लाश को दफनाने को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ था ग्रामीण उसी की लाश को सड़क पर रखकर प्रदर्शन करने लगे। अंत में उच्च अधिकारियों के मान मनौवल के बाद लाश का अंतिम संस्कार हुआ। ये पूरा मामला तब अंजाम पाया जब पुलिस और राजस्व टीम विवादित जमीन पर पैमाइश के बाद कब्जा दिलाने गई थी।

ये है पूरा मामला

मामला जिले के कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के चकरपुर गांव का है। काफी लंबे समय से यहां जमीन का विवाद चला आ रहा है। शनिवार को उक्त जमीन पर लाश दफनाने को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ।

इस मामले में पैमाइश के लिए पुलिस और राजस्व की टीम गांव पहुंची थी। सीओ दलबीर सिंह, चांदा एसओ संजय कुमार सिंह दल बल के साथ पहुंचे थे के ग्रामीणों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। मौके की नजाकत को देख राजस्व अधिकारी और कर्मचारी तो फरार हो गए, लेकिन सीओ के साथ आए पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल पुलिसकर्मियों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। खाकी पर हुए हमले से पुलिस का गुस्सा सातवें आसमान पर था, जवाब में पीएसी बल मौके पर पहुंचा और लाठी चार्ज कर दिया। जिसमें जहां कई ग्रामीण घायल हुए। फिर क्या था, इलाहाबाद-फैजाबाद नेशनल हाइवे पर लाठियां लेकर औरत-मर्द जमा होकर प्रदर्शन करने लगे।

उपद्रवी ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

उधर सूचना मिलने पर एसपी अनुराग वत्स घायल पुलिस कर्मियों को देखने जिला अस्पताल पहुंचे। एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि कोतवाली देहात थाने में उपद्रवी ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही पुलिस टीम पर हमला करने वालों की गिरफ्तारी की जाएगी। एसपी ने बताया कि एसडीएम की मौजूदगी में पैमाइश के बाद निर्माण कार्य शुरू कराए जाने की तैयारी चल रही थी। इसी बीच ग्रामीण आक्रोशित हो उठे और पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। उन्होंंने बताया कि जाम को हटवा दिया गया है और मूलचंद के शव का अंतिम संस्कार कराया जा रहा है।