Top

मैं मोनिका, बहुत टार्चर किया जा रहा, सुसाइड नोट लिखा और लगा ली फांसी...

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 30 Sep 2018 11:34 AM GMT

मैं मोनिका, बहुत टार्चर किया जा रहा, सुसाइड नोट लिखा और लगा ली फांसी...
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: यूपी पुलिस में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। रविवार को पुलिस महकमे के टार्चर से तंग मोनिका नामक सिपाही का सुसाइड तो इसी दिशा की ओर इशारा कर रहा है। जिले के पुलिस महकमे में उस समय हड़कंप मच गया जब महिला कॉन्स्टेबल का शव उसके कमरे के अंदर फांसी के फंदे से लटकता मिला। महिला कॉन्स्टेबल ने आत्महत्या करने से पहले कमरे में एक सुसाइड नोट भी लिखकर छोड़ा है। सुसाइड नोट में कॉन्स्टेबल ने पुलिसकर्मियों पर मानसिक रूप से परेशान करने के गंभीर आरोप लगाए हैं। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचे और जांच शुरू कर दी है।

सीसीटीएनएस में तैनात थी मोनिका

पुलिस विभाग में होने वाली आत्महत्याओं का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। बीते दिनों कई दरोगा, सिपाही और यहां तक कि यूपी पुलिस के उच्च अधिकारी तक मौत को गले लगा चुके हैं। ताजा मामला हैदरगढ़ कोतवाली में सीसीटीएनएस में तैनात महिला कॉन्स्टेबल मोनिका से जुड़ा है। मोनिका का शव उसके कमरे में फंदे पर लटकता मिला। हरदोई जिले की मूल निवासी मोनिका 2016 बैच की सिपाही थी। करीब एक साल से कोतवाली में तैनात मोनिका कस्बे में पंजाब नेशनल बैंक के पास किराये का कमरा लेकर रह रही थी।

आत्महत्या से पहले महिला आरक्षी ने एक सुसाइट नोट लिखकर छोड़ा है, जिसमें उसने इंस्‍पेक्‍टर और कॉन्सटेबल पर मानसिक रूप से परेशान करने के गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला आरक्षी ने सुसाइड नोट में लिखा है कि उसकी सीसीटीएनएस में तैनाती के बाद भी बार-बार बाहर ड्यूटी लगा दी जाती है, जबकि बाकी किसी को कहीं नहीं भेजा जाता। इसके अलावा महिला आरक्षी ने छुट्टी मांगने पर इंस्‍पेक्‍टर द्वारा गलत व्यवहार करने का भी आरोप लगाया है।

सिपाही की मौत पर सिया‍सत शुरू

मकान मालिक अक्षय कुमार ने बताया कि उसने सुबह एक सिपाही मोनिका को फोन कर रहा था। जब उसने फोन नहीं उठाया तो वह घर आया। यहां देखा मोनिका फांसी के फंदे से लटक रही थी। मकान मालिक के मुताबिक मोनिका टीईटी की तैयारी भी कर रही थी।

वहीं पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे सपा नेता अरविंद सिंह गोप ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पूरी तरह से भ्रष्ट हो चुकी है। उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश में गरीब, किसान और नौजवान हर तबका परेशान है। आज हैदरगढ़ कोतवाली में तैनात सिपाही मोनिका ने आत्महत्या कर ली है। पूरी समाजवादी पार्टी मोनिका के परिवार के साथ है। हमारी मांग है कि मोनिका के फांसी लगाने की जांच हो और दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक वीपी श्रीवास्तव ने बताया कि आत्महत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है। इसके अलावा इंस्‍पेक्‍टर हैदरगढ़ और मुंशी को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया गया है। साथ ही मामले की जांच अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी को सौंप दी गई है। जांच रिपोर्ट में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story