Top

Ghaziabad Crime News: साइबर सेल की गिरफ्त में आया VI कंपनी का एजेंट, ऐसे करता था लोगों से ठगी

Ghaziabad Crime News: साइबर सेल (Cyber Cell) ने लोगों से ठगी करने वाले गैंग के सरगना को गिरफ्तार किया है। जिसने पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

Bobby Goswami

Bobby GoswamiReport Bobby GoswamiShreyaPublished By Shreya

Published on 2 July 2021 4:06 AM GMT

Ghaziabad Crime News: साइबर सेल की गिरफ्त में आया VI कंपनी का एजेंट, ऐसे करता था लोगों से ठगी
X

साइबर सेल द्वारा गिरफ्तार किया गया आरोपी (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Ghaziabad Crime News: फोटोशॉप से फर्जी पहचान पत्र बना कर उससे सिम एक्टिवेट करके लोगों से ठगी करने वाले गैंग के सरगना को साइबर सेल (Cyber Cell) ने गिरफ्तार किया है। आरोपी ने अब तक फर्जी आईडी (Fake ID) से करीब 4500 सिम एक्टिवेट करवाए थे। आरोपी VI कंपनी का एजेंट है। जिसने पुलिस को ऐसी ऐसी बातें बताई हैं जिसे सुनकर पुलिस भी हैरान है।

साइबर सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम बृजेश सैनी है, जो गौतमबुद्ध नगर (Gautam Buddh Nagar) का रहने वाला है। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वो VI कंपनी के लिए काम करता है और अब तक अपने साथियों के साथ मिलकर 4000 से ज्यादा सिम एक्टिवेट (SIM Activate) करा चुका है। यह सभी सिम फर्जी आईडी से एक्टिवेट कराए गए थे। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में कबूला है कि इन सिम को एक्टिवेट करके इनका इस्तेमाल ठगी के लिए किया जाता था।

बताया जा रहा है कि फर्जी आईडी पर एक्टिवेट सिम से लोगों को फोन किए जाते थे। लोगों को फोन पर झांसे में लेकर किसी तरह से उनका ओटीपी या बैंक डिटेल हासिल कर ली जाती थी। इसके बाद ठगी करके सिम को बंद कर दिया जाता था। पुलिस को यह भी पता चला है कि आरोपी द्वारा फर्जी आईडी पर एक्टिवेट किए गए सिम बेचे भी गए हैं। इससे यह भी साफ है कि आरोपी द्वारा देश की सुरक्षा से खिलवाड़ करने की कोशिश की गई है। क्योंकि एक्टिवेटेड सिम अगर किसी गलत हाथों में लग जाते तो उसका इस्तेमाल देश विरोधी घटना में भी हो सकता था।

मोबाइल फोन से मिलेंगे राज

आरोपी से 21 सिम और दो मोबाइल फोन बरामद हुए हैं। पुलिस इन मोबाइल फोन की डिटेल खंगालने में लगी हुई है। जिससे यह पता चल पाएगा कि इस गैंग में और कितने लोग शामिल हैं। यही नहीं मोबाइल से यह डिटेल भी मिलने के आसार हैं कि अब तक कितने लोगों के साथ फर्जी आईडी पर एक्टिवेट सिम से ठगी की गई है। आरोपी के पकड़े जाने से लोगों के लिए भी राहत की सांस भरी खबर है। क्योंकि जिन लोगों की फर्जी आईडी पर आरोपी ने सिम एक्टिवेट करा कर ठगी की थी, कई बार उन लोगों को भी मुश्किल का सामना करना पड़ा होगा। फर्जी आईडी बनाने के लिए आरोपी फोटोशॉप सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करता था जो फोन में ही पाया गया है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story