Top

Bahraich Crime: मातम में बदली शादी की खुशियां, हर्ष फायरिंग में मासूम की मौत

बहराइच में बीती रात आई बारात में हर्ष फायरिंग के दौरान एक मासूम की गोली लगने से मौत हो गई

Anurag Pathak

Anurag PathakReporter Anurag PathakAshikiPublished By Ashiki

Published on 22 May 2021 9:08 AM GMT

firing
X

प्रतीकात्मक तस्वीर (सौ. सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बहराइच: हर्ष फायरिंग पर रोक के बावजूद भी लोग बाज नहीं आ रहे। बहराइच के धर्मनपुर गांव में बीती रात आई बारात में द्वार पूजा के दौरान हुई हर्ष फायरिंग में एक बालिका की गोली लगने से मौत हो गई। बालिका की मौत के बाद शादी की खुशी मातम में छा गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने मृतक लड़की के पिता की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

हरदी थाना क्षेत्र के सिपहिया पीली निवासी चेतराम के पुत्र आशीष की शादी राम गांव थाना क्षेत्र के धर्मनपुर गांव में तय हुई थी। तय तारीख के अनुसार चेतराम अपने बेटे की बारात शुक्रवार को लेकर पहुँचे। बताया जा रहा है कि बारात पहुंचने के बाद द्वार पूजा हो रही थी, जहां पर चेतराम के चचेरे भाई जीवनलाल अपनी 10 वर्षीय बेटी काजल के साथ खड़े हुए थे। इसी दौरान किसी ने असलहे से हर्ष फायरिंग कर दी। फायरिंग के दौरान गोली बालिका को लग गई। जिससे वह गंभीर रूप से घायल होकर वहीं गिर गई।

आनन-फानन में बालिका को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने बालिका को मृत घोषित कर दिया। बालिका की मौत की खबर सुनने के बाद शादी की खुशियां मातम में बदल गई। मृतक बालिका के घर में परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। रामगांव थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक बालिका के पिता की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।


भारत-नेपाल सीमा पर तस्कर गिरफ्तार

दूसरी ओर भारत-नेपाल सीमा पर तैनात एसएसबी व पुलिस के जवानों ने गश्त के दौरान एक तस्कर को दबोच लिया। तस्कर के पास से भारी मात्रा में स्मैक बरामद हुआ। तस्कर स्मैक को भारत से नेपाल तस्करी करने के लिए ले जा रहा था। बरामद तस्कर की अंतरराष्ट्रीय कीमत एक करोड़ छह लाख रुपये आंकी गई है। पुलिस ने तस्कर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया।

भारत नेपाल सीमा पर स्थित रुपईडीहा बॉर्डर खुली सीमा है। सीमा की सुरक्षा के लिए एसएसबी व पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं। रुपईडीहा थानाध्यक्ष अशोक सिंह के निर्देश पर थाने के एसआई पारसनाथ तिवारी व एसएसबी के सहायक उपनिरीक्षक सिकंदर सिंह की संयुक्त टीम अपने दलबल के साथ भारत- नेपाल सीमा स्तंभ संख्या 651 के पास गश्त कर रहे थे। गश्त के दौरान एक युवक आता हुआ दिखाई पड़ा। टीम ने रुकने का इशारा किया तो वह भागने लगा। इस पर टीम ने घेराबंदी करते हुए युवक को दबोच लिया।


थानाध्यक्ष अशोक सिंह ने बताया कि तलाशी के दौरान युवक के पास से 106 ग्राम स्मैक बरामद हुई। जिसकी अंतरराष्ट्रीय कीमत एक करोड़ छह लाख रुपये है। थानाध्यक्ष ने बताया कि पूछताछ में तस्कर की पहचान विशेश्वरगंज थाना क्षेत्र के बीरपुर भोज पोस्ट गिंधरिया निवासी राजू के रूप में हुई है। आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया।

महिला के चेहरे की मुस्कान बनी पुलिस, गहनों से भरा बैग ढूंढ कर किया वापस

जिले में पुलिस ने एक महिला की मदद कर मिसाल पेश की है। शादी से लौट रही महिला का जेवरात से भरा बैग रास्ते में गिर जाने सूचना पर पुलिस ने एक घंटे के अंदर ढूंढ कर रोती हुई महिला के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया। बैग पाकर महिला का चेहरा खुशी से खिल उठा। पुलिस को महिला ने थैंक्यू बोल कर शुक्रिया अदा किया। पुलिस के इस कार्य की सराहना चारों ओर हो रही है।


लखीमपुर जिले के ईसानगर थाना क्षेत्र के पंडित पुरवा रामलोक निवासी मंजू मिश्रा पत्नी राकेश मिश्रा अपने देवर भरत मिश्रा के साथ गोंडा जिले के कौड़िया थाना क्षेत्र में आयोजित शादी समारोह में शामिल होने आई थी। शादी में शिरकत करने के बाद वह शनिवार को अपने देवर के साथ बाइक पर सवार होकर लखीमपुर के लिए जा रही थी। महिला अपने साथ गहनों से भरा पर्स भी ली हुई थी। रास्ते में महिला का बैग अचानक कहीं गिर गया। जिससे वह काफी परेशान हो हो गई। काफी खोजबीन के बाद भी बैग नही मिला। महिला रोते हुए देहात कोतवाली पहुंची कोतवाली में मौजूद कोतवाल प्रेमपाल सिंह ने महिला के रोने का कारण पूछा। महिला ने अपनी आप बीती बताई तो कोतवाल ने बैग ढूंढने का आश्वासन देकर थाने पर बैठाया। कोतवाल ने तत्काल एसआई अनुराग प्रताप सिंह के नेतृत्व में टीम गठित कर पर्स को ढूंढने के लिए लगा दिया।

पुलिस के अथक प्रयास के बाद एक घंटे के अंदर महिला का पर्स बरामद कर लिया। कोतवाल ने बताया कि महिला का पर्स गोंडा- बहराइच हाईवे पर स्थित नगरौर के पास मिला। पुलिस ने गहनों से भरा बैग महिला को दिया तो महिला के रोते हुए चेहरे पर मुस्कान छा गई। पीड़ित महिला के चेहरे पर मुस्कान देखकर पुलिस को आम संतुष्टि मिली। महिला ने कोतवाली पुलिस को थैंक यू बोल कर शुक्रिया अदा किया। पुलिस के इस सराहनीय कार्य की जानकारी के बाद पुलिस की चारों ओर तारीफ हो रही है।

Ashiki

Ashiki

Next Story