पिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए बेटी ने CM योगी को लिखा खून से पत्र

पिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए एक बेटी ने अपने खून से सीएम आदित्यनाथ को ख़त लिखकर इंसाफ की गुहार लगाई है। जानें क्या है मामला…

Published by sujeetkumar Published: April 25, 2017 | 7:53 pm
Modified: April 25, 2017 | 8:38 pm

कौशांबी: पिता के हत्यारों को सजा दिलाने के लिए एक बेटी ने अपने खून से सीएम आदित्यनाथ योगी को ख़त लिखकर इंसाफ की गुहार लगाई है। बेटी का आरोप है कि उसके पिता का कातिल और कोई नहीं बल्कि इंसाफ का रखवाला एक सब इंस्पेक्टर है। इसलिए पुलिस मामले में निष्पक्ष कार्रवाई नहीं कर रही है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर….


क्या है मामला?

कौशांबी के मनौरी गांव के रहने वाले ओम प्रकाश का शव बीते 3 अप्रैल को पूरामुफ्ती थाना के कुसवां रेलवे ट्रैक के पास मिला था। ओम प्रकाश इलाहाबाद हाईकोर्ट में सेक्शन अफसर के पद पर कार्यरत थे। मामले में मृतक की पत्नी प्रभावती ने मकान न बेचने के विरोध में अपने पति की हत्या किए जाने का आरोप लगाते हुए सब इंस्पेक्टर प्रद्युम्न  सिंह और उनके बेटे अभिनव के खिलाफ पूरामुफ्ती थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया था। मृतक सेक्शन अफसर की बेटी वैशाली का आरोप है, कि हत्या का आरोपी सब इंस्पेक्टर है इसलिए पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया।

इंस्पेक्टर ने दी थी जान से मारने की धमकी 
दरअसल ओम प्रकाश ने सात साल पहले इलाहाबाद के लूकरगंज में एक जमीन लेकर मकान बनवाया था। उस मकान में सेक्शन अफसर अपने परिवार के साथ रहता था।वहीं पास के मकान में सब इंस्पेक्टर प्रद्युम्न  सिंह भी रहते थे, जो ओम प्रकाश का मकान जबरन खरीदना चाहते थे। लेकिन ओम प्रकश ने मकान बेचने से इनकार कर दिया था। जिससे प्रद्युम्न  सिंह बौखलाया हुआ था और दोनों में इस बात को लेकर झगड़ा भी हुआ था। प्रद्युम्न ने ओम प्रकाश को जान से मारने की धमकी भी दी थी।

नहीं मिला इंसाफ 
जानमाल के भय से सेक्शन अफसर लूकरगंज का मकान छोड़कर अपने परिवार के साथ कौशांबी के मनौरी गांव में रहने लगे। तीन अप्रैल को परिवार को खबर मिली की ओम प्रकश का शव रेलवे ट्रैक के किनारे क्षत विक्षत रूप में पड़ा हुआ है। परिजन रोते बिलखते मौके पर पहुंचे। शव को देखने के बाद परिजनों ने हत्या का आरोप सब इंस्पेक्टर प्रद्युम्न  सिंह और उसके बेटे अभिनव पर लगाया।

नहीं हुई अबतक कार्रवाई 
पूरामुफ्ती पुलिस ने मृतक की पत्नी प्रभावती की तहरीर पर सब इंस्पेक्टर और उसके बेटे के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था। हत्या का केस दर्ज होने के बाद पुलिस ने हत्यारोपी सब इंस्पेक्टर और उसके बेटे की गिरफ्तारी नहीं की। वर्तमान समय में सब इंस्पेक्टर प्रद्युम्न  सिंह सुल्तानपुर जिले में तैनात है। मृतक के परिजनों का आरोप है कि कातिलों की पकड़ प्रदेश सरकार में रसूख रखने वालों से भी है, और पुलिस विभाग में कार्यरत होने के चलते मामले में पूरामुफ्ती पुलिस निष्पक्ष कार्रवाई नहीं कर रही है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App