पैसे के लेन-देन में दबंगों ने युवक को पीटने के बाद मारी गोली, हालत गंभीर

Published by Published: October 13, 2017 | 11:27 am
पुलिस से बेखौफ दबंगों ने युवक को जमकर पीटा। उसके बाद युवक को गाङी में डालकर कुछ देर ले जाकर उसे गोली मार दी। गोली युवक के पेट में लगने

शाहजहांपुर: पुलिस से बेखौफ दबंगों ने युवक को जमकर पीटा। उसके बाद युवक को गाङी में डालकर कुछ देर ले जाकर उसे गोली मार दी। गोली युवक के पेट में लगने के कारण उसकी हालत गंभीर बनी हुई है, जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां उसकी हालत गंभीर देखते परिजनों ने निजी नर्सिंग होम भर्ती कराया है।

यह भी पढ़ें: दबंगों ने घर में घुसकर नाबालिग से किया रेप, फिर भी पुलिस ने नहीं दर्ज की FIR

मामला पैसे के लेन-देन का बताया जा रहा है। पैसे के लेन-देन के चलते करीब दस दिन पहले घायल शख्स के भाई पर भी इन्हीं दबंगों ने हमला किया। उसको भी जमकर पीटा था। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। यही कारण है दबंगों के हौसले बुलंद हो गए और युवक को पहले पीटा। उसके बाद उसके गोली मार दी।

यह भी पढ़ें: BJP विधायक की दबंगई, वन विभाग के अधिकारियों को जमकर पीटा

क्या है पूरा मामला
घटना थाना सदर बाजार क्षेत्र के गदियाना मोहल्ले की है। बीती रात यहां के रहने वाले 25 वर्षीय शालू नाम के युवक की मोहल्ले के रहने वाले शकील से पैसे के लेन-देन के चलते रंजिश चल रही थी। बीती रात दबंग शकील के साथियों ने शालू के घर हमला कर दिया और शालू को पहले तो जमकर पीटा। उसके बाद शालू को दबंग अपनी गाड़ी में डालकर कुछ देर ले गए, जहां उसके गोली मारी और बीच सड़क पर फेंककर फरार हो गए।

यह भी पढ़ें :हरदोई पुलिस की दबंगई, मजदूरी के पैसे मांगने पर किया अधमरा, पांचों सिपाही सस्पेंड

घायल शालू के भाई ने बताया कि करीब दस दिन पहले भी शकील और उसके साथियों ने उसके घर पर हमला किया था। उस वक्त उसका घर पर नहीं था। तब हमें इन दबंगों ने पीटा था। मेरे सिर में पांच टांके लगे थे, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। पुलिस एक बार भी दबंगों के घर नहीं गई थी।

यही वजह है कि दबंगों ने हौसले बढ़े और मेरे भाई पर भी हमला कर दिया। फिलहाल घायल युवक की हालत बेहद गंभीर बनी हुई, जिसके कारण पीड़ित परिवार अभी तहरीर नहीं दे पाया है। ववहीं पुलिस तहरीर मिलते ही कार्रवाई की बात कर रही है।

वहीं डॉक्टर मेहराज ने बताया कि युवक के पेट में गोली लगी थी। उसकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई थी, इसलिए उसको हायर सेंटर रेफर किया था। लेकिन परिजन उसे नीजी नर्सिग होम ले गए हैं।