Top

Gorakhpur Crime News: बदमाशों ने काट दी डॉक्टर की उंगली, जानिए क्या है पूरा मामला

Gorakhpur Crime News: बदमाशों को दस लाख की रंगदारी नहीं देना अस्पताल संचालक को भारी पड़ गया। हमलावरों ने प्रदीप कुमार की बुरी तरह से पिटाई कर बाएं हाथ की दो उंगलियां भी काट दी।

Injured doctor hospitalized
X

घायल डॉक्टर अस्पताल में भर्ती  pic(social media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Gorakhpur Crime News: प्रदेश सरकार भले ही कानून व्यवस्था को लेकर तमाम दावे कर रही हो लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर में ही इसकी हकीकत रोज देखने को रही है। बदमाशों को दस लाख की रंगदारी नहीं देना अस्पताल संचालक को भारी पड़ गया। मनबढ़ों ने अस्पताल संचालक को रविवार की देर रात जमकर पीटा और बाद में बाये हाथ की दो अंगुलियों को काटकर अलग कर दिया। पुलिस मामले को मारपीट का बता कर अल्पीकरण पर जुटी है।

बदमाशों ने डॉक्टर को बुरी तरह पीटा pic(social media)

बदमाशों ने काटी उंगली

जानकारी के मुताबिक चिलुआताल थाना क्षेत्र के रेल विहार कॉलोनी करीम नगर निवासी प्रदीप कुमार न्यू अर्पित हास्पिटल एंव रिसर्च सेंटर के डायरेक्टर हैं। उनके मैनेजर नितिन सिंह ने बताया कि प्रदीप कुमार से कई दिनों से दस लाख की रंगदारी मांगी जा रही थी लेकिन वह पैसा देने से इंकार कर रहे थे। इसको लेकर उनके पास कई बार फोन भी आ रहे थे। बकौल नितिन रविवार शाम को साढ़े चार बजे प्रदीप कुमार अपनी कार से तरकुलहा मंदिर गए थे।

कार में उनके अलावा ड्राइवर राजा और हास्पिटल का स्टाफ छोटू सिंह थे। रात में लौटते समय, चार पहिया गाड़ी से आए हमलावरों ने तरकुलहा मोड़ पर ही ओवरटेक कर रोक लिया। ड्राइवर को पीट कर भगाने के बाद हमलावरों ने प्रदीप कुमार की बुरी तरह से पिटाई की। उनके सिर पर में गंभीर चोट आई वहीं बाएं हाथ की दो उंगलियां भी काट दी।

पुलिस कर रही छानबीन

घटना पता चलने के बाद हास्पिटल के कर्मचारियों की मद्द से उन्हें मेडिकल कालेज ले जाया गया। घटना की सूचना कर्मचारियों ने पुलिस को दी। जिसके बाद चिलुआताल थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और बयान लेने के बाद प्रदीप के भाई को केस दर्ज कराने के लिए चौरीचौरा थाने भेज दिया।

प्रदीप कुमार ने बताया कि उनके पास जब भी फोन आते तो उन्हें लगता कि कोई बदमाशी कर रहा है। उन्हें पुलिस प्रशासन पर पूरा विश्वास था। एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु का कहना है कि चौरीचौरा और चिलुआताल पुलिस को मनबढ़ों को पकड़ने के लिए लगाया गया है। प्रथमदृष्टया मारपीट का मामला लग रहा है। रंगदारी की कोई पहले से सूचना भी उन्होंने नहीं दी थी। आरोपितों को पकड़ने के बाद स्थिति साफ हो जाएगी।

सिकरीगंज के व्यापारी से 20 लाख की रंगदारी

वहीं बदमाशों ने सिकरीगंज के एक व्यापारी से 20 लाख की रंगदारी मांग कर पुलिस को चुनौती दी है। किराना व्यापारी अयोध्या प्रसाद जायसवाल ने पुलिस को इस बाबत सूचना देकर कार्रवाई की मांग की है। बदमाशों ने रंगदारी नहीं देने पर बेटे की हत्या की धमकी दी है।

Pallavi Srivastava

Pallavi Srivastava

Next Story