Top

हापुड़ : विजीलेंस टीम ने अमीन को किसान से रिश्वत लेते दबोचा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 26 Oct 2018 1:49 PM GMT

हापुड़ : विजीलेंस टीम ने अमीन को किसान से रिश्वत लेते दबोचा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हापुड़ : चाहे सरकार लाख कोशिश कर ले भ्रष्टाचार को खत्म करने की, लेकिन सरकार के कर्मचारी रिश्वतखोरी से बाज नही आएंगे। वो आम आदमी को अपना निशाना बनाते रहेंगे। ताजा मामला हापुड़ का है जहां अमीन पर 20 हजार रुपये की रिश्वत लेने का आरोप लगा है।

बता दें अमीन को रंगे हाथों भी विजिलेंस की टीम ने पकड़ा है। हापुड़ में मेरठ की एंटी करेप्शन विजीलेंस टीम ने शुक्रवार को हापुड़ तहसील में तैनात एक अमीन को बीस हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ दबोच लिया। आरोपी के खिलाफ कोतवाली में संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

यह भी पढ़ें: कृषि कुंभ का केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह एवं मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन

यह भी पढ़ें: वाराणसी: एयर इंडिया के विमान से टकराया कैटरिंग वाहन, घंटों हलकान रहे मुसाफिर

यह भी पढ़ें: हैप्पी वाला बड्डे रवीना! ‘मस्त-मस्त गर्ल’ के बारे में जानें 7 रोचक बातें

यह भी पढ़ें: बदायूं: पटाखा बनाने के दौरान हुआ विस्फोट, 7 की मौत, तीन घायल

आपको बता दें, कि हापुड़ तहसील के गांव मीरपुर कला निवासी किसान नीशू ने किसान क्रेडिट कार्ड से लोन लिया था। इस मामले में उसकी आरसी जारी कर दी गयी। हापुड़ तहसील में तैनात अमीन दयाचंद पिछले कई दिन से नीशू पर रुपये जमा करने का दबाव बना रहा था। इसके बाद अमीन ने उसे सरकार से आयी एक लाख रुपये की छूट दिलाने के नाम पर 50 हजार रुपये की मांग शुरू कर दी। जिसकी शिकायत किसान ने मेरठ स्थित एंटी करप्शन कार्यालय में की। सीनियर इंस्पेक्टर अरविंद शर्मा के नेतृत्व में टीम ने जाल बुना और अमीन को रुपये देने के लिए सबली गेट के पास बुलवाया। जैसे ही किसान नीशू ने रंग लेगे बीस हजार रुपये अमीन को दिये। टीम ने उसे दबोच लिया। आरोपी के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story