Top

मेरठ: SDM से त्रस्त HCP ने शमशान घाट में फांसी लगाई, सुसाइड नोट में लगाया शोषण का आरोप

गढ़ रोड स्थित मुक्टेश्वरा गांव के निवासी विजेंद्र सिंह पुत्र दाताराम परिवार सहित मेडिकल थाना क्षेत्र के अशोक विहार मकान नंबर 7 में रहते थे।

By

Published on 3 March 2017 5:53 AM GMT

मेरठ: SDM से त्रस्त HCP ने शमशान घाट में फांसी लगाई, सुसाइड नोट में लगाया शोषण का आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

vijendra-singh1

मेरठ: खरखौदा थाना क्षेत्र के शमशान घाट में बुधवार की रात पुलिस विभाग में तैनात एक एचसीपी ने पेड़ से फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। मेरठ निवासी एचसीपी मुजफ्फरनगर कोर्ट में तैनात थे और छह माह बाद उसकी सेवानिवृत्ति थी। उसने अपने सुसाइड नोट में एसडीएम पर अपने शोषण के गंभीर आरोप लगाया है। घटना के बाद अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

क्या है पूरा मामला

-गढ़ रोड स्थित मुक्टेश्वरा गांव के निवासी विजेंद्र सिंह पुत्र दाताराम परिवार सहित मेडिकल थाना क्षेत्र के अशोक विहार मकान नंबर 7 में रहते थे।

-विजेंद्र यूपी पुलिस में एचसीपी के पद पर तैनात थे।

-पत्नी किरन के अनुसार बुधवार की रात करीब आठ बजे वह मुजफ्फरनगर से वापस लौटे थे।

-कुछ देर बाद ही टहलने के लिए घर से निकल गए।

-रात भर जब वह वापस नहीं लौटे, तो परिजन उनकी तलाश में जुट गए।

-सुबह खरखौदा थाना क्षेत्र के काजीपुर गांव स्थित शमशान घाट में गांव के लोगों ने पेड़ से रस्सी के सहारे एक शव झूलता देखा, तो क्षेत्र में सनसनी फैल गई।

-मौके पर पहुंचे इंस्पेक्टर मनीष सक्सेना ने पुलिस कर्मियों की मदद से शव को फंदे से उतारते हुए कपड़ो की तलाशी ली। तो मृतक की जेब से बरामद हुए कागजातों के आधार पर शव की शिनाख्त विजेंद्र के रूप में हुई।

आगे की स्लाइड में जानिए पूरे मामले के बारे में

vijendra-singh1

-घटना की जानकारी मिलते ही जहां परिजनों में कोहराम मच गया, वहीं एसपी देहात श्रवण कुमार और सीओ किठौर विनोद सिरोही भी घटनास्थल पर पहुंचे।

-पुलिस को मृतक की जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है।

-जिसमें उसने मुजफ्फरनगर एसडीएम सदर पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

आगे की स्लाइड में जानिए किस वजह से लगाया विजेंद्र ने मौत को गले

vijendra-singh1

एसडीएम ने लगाया था फाइल गायब करने का आरोप

-बताया जाता है कि एसडीएम सदर एक फाइल गायब करने का आरोप लगाते हुए एचसीपी का उत्पीडऩ कर रहे थे।

-जिसके चलते वह पिछले काफी समय से डिप्रेशन में थे।

-मृतक के परिवार में एक विवाहित पुत्र अरविंद और दूसरा शुभम अविवाहित है।

-रोते-बिलखते अरविंद ने बताया कि छह माह बाद उनके पिता विजेंद्र रिटायर होने वाले थे।

-परिवार के लोग बहुत खुश थे कि रिटायरमेंट के बाद वह परिवार को समय दे सकेंगे।

-पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

आगे की स्लाइड में देखिए इस घटा की और भी तस्वीरें

vijendra-singh1

Next Story