Top

पुलिस थाने में पति ने दिया तलाक, पत्नी बोली इससे हिंदू बन जाना ही बेहतर है

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 19 May 2017 12:51 PM GMT

पुलिस थाने में पति ने दिया तलाक, पत्नी बोली इससे हिंदू बन जाना ही बेहतर है
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

उधम सिंह नगर : पहाड़ी राज्य उत्तराखंड आमतौर पर तो शांत रहता है लेकिन जब देश भर में ट्रिपल तलाक का मुद्दा गरमाया हुआ हो तो कैसे यहाँ शांति रह सकती है, सूबे के उधम सिंह नगर से तीन तलाक का एक ऐसा मामला सामने आया है जो मुस्लिम समाज को सोचने पर मजबूर कर देगा कि आखिर ऐसे रीति रिवाज का क्या फायदा जो किसी को भी बे मौत मार दे।

ये भी देखें :तीन तलाक: वैधता पर SC में सुनवाई पूरी, 6 दिन चली बहस के बाद फैसला सुरक्षित रखा

यहाँ एक तलाकशुदा महिला ने धमकी देते हुए कहा कि यदि उसे न्याय नहीं मिला तो वह हिंदू बन जाएगी या फिर अपनी जान ले लेगी। शामीम जहां नाम की इस महिला ने पीएम नरेंद्र मोदी और सुप्रीम कोर्ट से मामले में दखल देने की मांग की।

आपको जानकर हैरत होगी कि गदरपुर पुलिस थाने के अंदर शामीम को उसके पति ने तीन तलाक दे दिया था। इसके बाद शामीम ने कहा अपने अनुभव के बाद मैं यहीं कहूंगी कि हिंदू बन जाना ही बेहतर है, क्योंकि वहां ऐसी चीजें नहीं होतीं। दूसरा विकल्प खुदकुशी है। मैंने बहुत दुख झेला है।

शामीम का निकाह आसिफ से 12 वर्ष पहले हुआ था और सिर्फ 4 साल बाद ही उसने तलाक दे दिया था। इसके बाद परिजनों ने जब उसे समझाया और हलाला का समय पूरा होने के बाद दोनों साथ रहने लगे थे। इसके बाद शामीम को उसके पति ने मारना पीटना शुरू कर दिया। अत्याचार से आजिज शामीम गदरपुर पुलिस थाने पहुंच गई। आसिफ को भी पुलिस ने थाने बुलाया जहाँ उसने पुलिसवालों के सामने ही तलाक दे दिया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story