Top

सेल्फी खींचने के बहाने पत्नी को नहर में धकेला, बाद में लूट का रचा नाटक

By

Published on 31 May 2016 11:08 AM GMT

सेल्फी खींचने के बहाने पत्नी को नहर में धकेला, बाद में लूट का रचा नाटक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: सेल्फी खींचने के बहाने पति ने अपनी पत्नी को नहर में धक्का देकर मार दिया। हत्या की इस घटना पर पर्दा डालने के लिए उसने लूट का नाटक रचा लेकिन पुलिस ने जब उससे सख्ती से पूछताछ की तो कुछ ही देर में उसने सच कबूल कर लिया।

aftaab आरोपी पति आफताब

डेढ़ साल पहले हुई थी शादी

-डेढ़ साल पहले मेरठ के मोहल्ला जाकिर कालोनी निवासी आफताब आलम का निकाह मोहल्ला बेरून सराय निवासी आयशा परवीन से हुई थी।

-बताया गया कि निकाह के कुछ दिनों बाद से ही आफताब दहेज के लिए आयशा का उत्पीड़न करने लगा था।

-उधार के बहाने कई बार आयशा के मायके से रुपए ले जा चुका था।

-पंद्रह दिन पहले भी आफताब अपने साले से एक लाख रुपए बतौर उधार ले गया था।

-कुछ दिनों से आयशा अपने आठ महीने के बेटे शाद के साथ अपने मायके में रह रही थी।

-बीते रविवार को आफताब अपनी पत्नी आयशा को लेने पहुंचा।

-सोमवार सुबह आफताब लगभग ग्यारह बजे आयशा और बेटे शाद को बाइक से लेकर मेरठ के लिए चल दिया।

पहले से ही था पत्नी को मारने का प्लान

-आफताब ने पहले से ही आयशा को मारने का प्लान बना लिया था।

-जिसके चलते आफताब अपनी पत्नी और बेटे को सही रास्ते से नहीं लेकर चला।

-उसने गंग नहर कि पटरी का रास्ता अपनाया और चौधरी चरण सिंह कावड़ मार्ग पर गांव बहादरपुर के पास बाइक रोक ली।

-यहां आफताब ने एक पेड़ के नीचे बैठकर कुछ देर आयशा से बात की।

police घटनास्थल पर मौजूद पुलिस

-उसके बाद आयशा का फोटो खींचने के बहाने उसे नहर के किनारे ले गया।

-जहां उसने आयशा को धक्का दे दिया।

-जिसके बाद आयशा ने नहर में गिरते समय झाड़ियों को पकड़ लिया।

-उसने अपने पति से बचाने की गुहार लगाई लेकिन आफताब ने उसे बचाने के बजाए नहर में धकेल दिया।

लूट का रचा नाटक

-इसके बाद शातिर आफताब ने इस मामले को लूट का नाटक रचा।

-उधर से जा रहे राहगीरों को बताया कि एक मारूति कार में चार बदमाश आए।

-उन्होंने उससे लूट का प्रयास किया।

gang-nahar शव निकलते गोताखोर

-विरोध करने पर बदमाशों ने उसकी पत्नी को नहर में फेंक दिया।

-राहगीरों से 100 नंबर पर फोन भी कराया गया।

-इसके बाद आफताब सरधना थाने पहुंचा और बदमाशों द्वारा उसकी पत्नी को नहर में फेंके जाने की बात बताई।

सख्ती से पूछताछ के बाद कबूला सच

-पुलिस को आफताब की बात पर शक हुआ, जिसके बाद उससे सख्ती से पूछताछ की गई।

-आयशा के परिजन भी थाने पहुंच गए उन्होंने भी आफताब की कहानी पर शक जताते हुए हत्या किए जाने की आशंका जताई।

-जिसके बाद पुलिस की सख्ती के आगे आफताब ने सच कबूल कर लिया।

-देर शाम आयशा का शव नहर से ढूंढने के बाद पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

Next Story