Top

बेटी पैदा होने पर पति ने दी तलाक की धमकी, बोला- मोदी-योगी क्या कर लेंगे?

By

Published on 3 Oct 2017 9:14 AM GMT

बेटी पैदा होने पर पति ने दी तलाक की धमकी, बोला- मोदी-योगी क्या कर लेंगे?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शाहजहांपुर: बेटी बोझ नहीं होती, यह बात शायद अभी तक हर किसी को समझ नहीं है क्योंकि बेटी पैदा होने पर शाहजहांपुर में एक पति ने पत्नी को तलाक की धमकी दी है। इस पर जब पत्नी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तलाक को खत्म कर दिया है।

यह भी पढ़ें: तीन तलाक पर SC के फैसले का सम्मान, शरीयत में दखल बर्दाश्त नहीं

अब तुम्हारे तीन तलाक कह देने से तलाक नहीं होता, तो पति ने कहा कि देखें तुम्हारे योगी और मोदी क्या करेंगे मेरा? जाओ अब उनके पास। दो लाख रुपए न मिलने और बेटी पैदा होने पर महिला को पीट-पीटकर घर से निकाल दिया। पीङिता का आरोप ये भी है कि उसका सौतेला ससुर उस पर गलत नजर रखता है। फिलहाल पुलिस ने गंभीर धाराओं में पति समेत सास ससुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें: तीन तलाक मामला: अब बर्बाद न होने पाये और किसी की जिंदगी

क्या है पूरा मामला

मामला रौजा थाना क्षेत्र के मोहल्ला लोधीपुर का है, यहां के रहने वाले अनीस खान के दस बच्चे हैं। अनीस ने एक साल पहले अपनी 21 साल की बेटी रूकईया की शादी मोहल्ले के रहने वाले इमरान खान पुत्र सलीम खान से की थी। पीङिता रूकईया ने बताया कि वह अभी एमए की पढ़ाई कर रही है। शादी के चार दिन बाद ही दहेज कम होने के ताने मिलने लगे। जबकि उनके पिता ने अपनी हैसियत के लायक पांच लाख रुपए की शादी की थी और साथ ही दो लाख रुपए नकद दिए थे। लेकिन उसके ससुराल वालों को दहेज कम लगता था।

यह भी पढ़ें: तीन तलाक पर ‘सुप्रीम’ फैसले को बुखारी ने बताया मुस्लिम बोर्ड की नाकामयाबी

उसका कहना है कि धीरे-धीरे उसका पति सास और ससुर दो लाख रुपए की मांग करने लगे। जबकि उसकी सास ब्लॉक भावलखेङा सीएससी पर सुपरवाईजर है। उनके पास पैसे की कोई कमी नहीं है। पीङिता के मुताबिक जब घर में कोई नही होता था तो उसका सौतेला ससुर उस पर गलत नजर रखता था। घर में अकेला पाते ही कभी उसका सौतेला ससुर सलीम खान उसके हाथ छूता, तो कभी पैर छूता। जब उसने इसका विरोध किया तो उसके ससुर ने कहा कि मेरी बात मान लो तो इस घर में रानी की तरह रहोगी।

यह भी पढ़ें: तीन तलाक पर केंद्र सरकार ने नए कानून की जरूरत को किया खारिज

पीङिता के मुताबिक उसकी सास शहनाज स्वास्थ्य विभाग में नौकरी करती है। जब वह प्रेग्नेंट थी, तब मेरी सास हमें अस्पताल लेकर गई और उसका धोखे से अल्ट्रासाउंड करा दिया, जिससे उन्हें पता चल गया, उसके गर्भ में बेटी है। ये जानकर उसका पति सास और ससुर उस पर एबॉर्शन कराने का दबाव बनाने लगे। वह कहते थे कि बेटा पैदा होना चाहिए। लेकिन उसने एबॉर्शन कराने से इंकार कर दिया। उसने एक महिला 13 दिन पहले एक बेटी को जन्म दिया, जिसका नाम अफीफा रखा है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर

बेटी को जन्म देने के बाद उसके साथ आए दिन मारपीट करना शुरू कर दी। उसने खुद डायल 100 पर 6 बार फोन किया, लेकिन फोन नहीं उठा। चार दिन पहले पति सास ससुर ने इतना पीटा, जिससे वह अधमरी हो गई। उसके बाद फटे कपड़ों में ही उसको घर के बाहर फेंक दिया। पिटाई से उसके मुंह, नाक और ब्लीडिंग होने लगी। उसे बाद उनके पिता ने वहां पहुचकर उसको अस्पताल में भर्ती कराया।

पीङिता ने बताया कि दो लाख रुपए की मांग उसका पति करता था। धमकी देता था कि अगर पैसे लाकर नहीं दिए तो उसको वह तलाक दे देगा। जब उसने अपने पति से कहा कि अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तलाक खत्म कर दिया है। अब तुम्हारे बोल देने से तलाक नहीं होगा। उसके बाद उसने धमकी दी कि जाओ अपने मोदी और योगी के पास। वह उसे तलाक दे देगा। उनसे कहना मेरा क्या कर लेंगे? फिलहाल इतनी परेशानी और जुल्म सहने के बाद पीङिता इस वक्त महिला जिला अस्पताल मे भर्ती है। जहां उसका इलाज किया जा रहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक की प्रथा को खत्म कर दिया है। लेकिन महिलाएं अभी भी इस तीन शब्दों की धमकी का शिकार हो रही है। लेकिन सचाई ये है कि महिलाएं अब इस तलाक को बिल्कुल भी मानने को राजी नही है यही वजह है कि जब पीङिता को घर से निकाला गया तो उसने पुलिस मे इसकी शिकायत कर एफआईआर दर्ज करा दी।

यहां सवाल पुलिस पर भी उठता है क्योंकि एफआईआर दर्ज हुए चार दिन बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस ने अभी तक पीङिता की सुध तक नही ली है पुलिस ने अभी तक पीङिता के ब्यान तक दर्ज कराने मुनासिब नही समझा। तो वही आरोपियों पर पुलिस कुछ ज्यादा ही मेहरबान लग रही है क्योंकि एफआईआर दर्ज हुए चार दिन बीत चुके है लेकिन आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं। लेकिन पुलिस मामले की जांच की बात कर रही है।

वही सीओ सदर अरूण चंद्र ने बताया कि महिला ने पति पर मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पीङिता की तहरीर के आधार पर गंभीर धाराओं मे मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

Next Story