Top

घर के तहखाने में चल रहा था अवैध हथियार फैक्ट्री, असलहों का जखीरा देख पुलिस भी रह गई दंग

aman

amanBy aman

Published on 1 Feb 2017 2:51 PM GMT

घर के तहखाने में चल रहा था अवैध हथियार फैक्ट्री, असलहों का जखीरा देख पुलिस भी रह गई दंग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुज़फ्फरनगर: पुलिस ने बुधवार (1 फरवरी) को एक मकान में छापेमारी की। छापेमारी में पुलिस ने तहखाने में चल रही अवैध हथियार फैक्ट्री का उजागर किया। छापेमारी में पुलिस ने भारी मात्रा में देशी तमंचे और देशी बंदूक सहित अवैध हथियार बनाने के औजार आदि बरामद किए।

पुलिस ने मौके से एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी पहले भी अवैध हथियार बनाने के मामले में जेल जा चुका है।

पुलिस ने कसा शिकंजा

यूपी में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अचार संहिता लागू होने के बाद से जिला प्रशासन और पुलिस चुनाव को प्रभावित करने वाले हर तत्व पर नजर बनाए हुए है। इसी के तहत वाहनों की जांच और अवैध हथियार बनाने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

मुखबिर ने दी थी सूचना

मुज़फ्फरनगर के थाना छपार क्षेत्र में क्राइम ब्रांच और स्थानीय पुलिस ने मुखबिर की सूचना के आधार पर एक घर पर छापेमारी की। पुलिस को वहां चल रहे अवैध हथियार फैक्ट्री से पचास से अधिक बने-अधबने देशी तमंचे बंदूक और हथियार बनाने के उपकरण मिले। पुलिस ने सभी को जब्त कर लिया। साथ ही मौके से एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया।

ये बताया एसएसपी ने

इस संबंध में जिले के एसएसपी बबलू कुमार ने बताया, 'क्राईम ब्रांच और छपार थाना की टीम को बड़ी सफलता मिली है। अभियुक्त गोपाल को गिरफ्तार भी किया गया है। छ्पेमारी में 55 बने-अधबने तमंचे बरामद हुए हैं। क्राईम ब्रांच की टीम काफी दिनों से सूचनाएं जुटा रही थी। उसी आधार पर हमें ये सफलता मिली है।'

एसएसपी ने बताया, अचार संहिता लगने के बाद से ये पांचवीं हथियार फैक्ट्री है जो उजागर किया गया है। हमने टीम को पांच हजार रुपए का ईनाम दिया है। अलग-अलग थानों में इस प्रकार की बरामदगी हुई है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story