Top

अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश, चुनाव में इस्तेमाल के लिए बनाए जा रहे थे असलहे

पुलिस ने आगामी चुनाव में इस्तेमाल के लिए बनाए जा रहे अवैध हथियारों की फैक्ट्री पर मंगलवार (10 जनवरी) को छापा मारकर भारी मात्रा में अवैध हथियारों का जखीरा पकड़ा है। फैक्ट्री में बड़ी संख्या में बने और अधबने तमंचे, बंदूक और पिस्टल बरामद कर दो लोगों को अरेस्ट किया गया है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 10 Jan 2017 10:22 AM GMT

अवैध हथियार बनाने की फैक्ट्री का पर्दाफाश, चुनाव में इस्तेमाल के लिए बनाए जा रहे थे असलहे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बिजनौर: पुलिस ने आगामी चुनाव में इस्तेमाल के लिए बनाए जा रहे अवैध हथियारों की फैक्ट्री पर मंगलवार (10 जनवरी) को छापा मारकर भारी मात्रा में अवैध हथियारों का जखीरा पकड़ा है। फैक्ट्री में बड़ी संख्या में बने और अधबने तमंचे, बंदूक और पिस्टल बरामद कर दो लोगों को अरेस्ट किया गया है।

क्या है मामला ?

-दरअसल स्योहारा पुलिस को सूचना मिली थी कि सहसपुर कस्बे में एक मकान में आने वाले चुनाव में इस्तेमाल के लिए बड़ी संख्या में अवैध हथियार बनाए जा रहे हैं।

-इस सूचना पर जब पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने मकान पर छापा मारा तो पुलिस की आंखे खुली की खुली रह गईं।

-वहां बड़ी संख्या में बने और अधबने तमंचे, बंदूक ओर पिस्टल बरामद हुए।

कई जिलों में होनी थी हथियारों की सप्लाई

-पकड़े गए आरोपियों नईम ओर शमशाद ने बताया कि ये सभी अवैध हथियार आने वाले विधानसभा चुनाव में इस्तेमाल के लिए बेचे जाने थे।

-इन हथियारों की सप्लाई मेरठ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर आदि जिलों में की जानी थी।

ये हथियार हुए बरामद

-पकड़े गए हथियारों में 12 तमंचे 12 बोर, 14 तमंचे 315 बोर, एक बंदूक, 2 पिस्टल मिले है।

-काफी संख्या में अधबने हथियार भी बरामद हुए हैं।

क्या कहना है पुलिस का ?

-एसपी बिजनौर अजय साहनी का कहना है कि स्योहारा में एक अवैध हथियारों की फैक्ट्री पकड़ी गई।

-जिसमें बड़ी संख्या में बने और अधबने हथियार मिले।

-ये सभी चुनाव में इस्तेमाल होने थे।

-जिन्हें आसपास के जिलों में सप्लाई किया जाना था।

-नईम और शमशाद शातिर बदमाश हैं।

-जिन्हें जेल भेज दिया गया है।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story