Top

योगी सरकार हुई बेअसर, अवैध मिट्टी खनन करने वालों पर नहीं पड़ती पुलिस की नजर

By

Published on 23 Oct 2017 5:47 AM GMT

योगी सरकार हुई बेअसर, अवैध मिट्टी खनन करने वालों पर नहीं पड़ती पुलिस की नजर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बाराबंकी: यूपी की योगी सरकार भले ही प्रदेश में मिट्टी खनन पर सख्ती से अंकुश लगाने की बात करती है, मगर सच तो यह है कि जो मिट्टी खनन का काला कारोबार बेखौफ पिछली सरकारों में चल रहा था, वह आज भी बदस्तूर जारी है।

यह भी पढ़ें: अवैध खनन: CBI की छापेमारी, गायत्री प्रजापत‍ि के करीब‍ियों के ख‍िलाफ FIR

आज सूबे के निजाम भले ही बदल चुके हों, मगर फिर भी पुलिस व खनन विभाग की सांठ-गांठ के चलते देर रात अवैध मिट्टी खनन का काम आज भी खुलेआम हो रहा है। आज भी खुलेआम अवैध मिट्टी से लदे डम्फर सड़कों पर फर्राटे भरते हैं, लेकिन किसी की भी नज़र उनपर नहीं पड़ती या फिर यूं कहें कि कोई देखना ही नहीं चाहता।

यह भी पढ़ें: माफिया सरगना इकबाल कासकर, 2 अन्य न्यायिक हिरासत में भेजे गए

अवैध मिट्टी खनन का यह सारा खेल राष्ट्रीय राजमार्ग से सटे जंगलों में चलता है। जहां से होकर यह डम्फर मिट्टी लादकर अपने निर्धारित स्थानों पर ले जाते हैं, जहां पहुंचाने का इनका ठेका होता है।

यह भी पढ़ें: अपना भारत/न्यूज़ट्रैक Exclusive: खनन माफिया ने लगाया दो अरब से अधिक का चूना

सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों के पास इस बात का कोई जवाब नहीं था कि आखिर जब पुलिस सड़कों पर मुश्तैदी से गश्त करती है, तो आखिर उनकी नज़रों से बचकर यह डम्फर कैसे चले जाते हैं? पुलिस ने मौके पर पहुंचकर डम्फर और जेसीबी को अपने कब्जे में तो ले लिया, लेकिन इस बात की गारंटी कौन देगा कि अब मिट्टी खनन का यह खेल अब आगे से नहीं होगा?

वहीं पुलिस द्वारा मौके से हिरासत में लिए डम्फर चालक ने बताया कि यह मिट्टी कहना किसी विनोद यादव भैया द्वारा कराया जा रहा है, जो समाजवादी पार्टी से ताल्लुक रखते हैं।

Next Story