Top

ISI का धमकी भरा पत्र, PM समेत निशाने पर देश के कई महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान

ग्वालियर नई दिल्ली ट्रैक पर भांडई स्टेशन के पास अंडमान एक्सप्रेस को पलटाने की कोशिश की गई थी लेकिन ड्राइवर ने ट्रैक पर पत्थर देखते ही इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए थे। ट्रैक पर दस दस किलो के पत्थरों के साथ पत्र भी रखा हुआ था।

zafar

zafarBy zafar

Published on 18 March 2017 9:18 AM GMT

ISI का धमकी भरा पत्र, PM समेत निशाने पर देश के कई महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: यूपी की राजधानी में आईएसआईएस के आतंकवादी सैफुल्लाह के मुठभेड में मारे जाने के बाद उसके इस राज्य में पैर फैलाने की पुष्टि हो गई थी। अब आईएसआई की तरफ से मोहम्मद मिर्जा नाम के शख्स ने एक धमकी भरा पत्र भेजा है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, संसद भवन, लखनऊ, आगरा, मथुरा और उत्तर मध्य रेलवे के स्टेशनों को उड़ाने की धमकी दी गई है।

आईएस की धमकी

पत्र एक सादे पन्ने पर लिखा गया है जो रेल ट्रैक पर पडा़ मिला था। पत्र मोहम्मद मिर्जा नाम के व्यक्ति ने लिखा है। ग्वालियर नई दिल्ली ट्रैक पर भांडई स्टेशन के पास अंडमान एक्सप्रेस को पलटाने की कोशिश की गई थी लेकिन ड्राइवर की सूझबूझ के कारण हादसा होने से बच गया। ड्राइवर ने ट्रैक पर पत्थर को देखते ही इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए थे।

ड्राइवर ने ट्रेन से उतर कर देखा कि ट्रैक पर दस दस किलो के पत्थर रखे थे। पत्थर के साथ ही पत्र भी रखा हुआ था। हालांकि पत्र के सही होने की पुष्टि न्यूज ट्रैक नहीं करता है। आगरा में जहां दो धमाके हुए हैं वो इलाका पत्र मिलने के दस किलोमीटर के दायरे में है।

यह भी पढ़ें .... आगरा कैंट रेलवे स्टेशन के पास दो धमाके, कल ही मिली थी ट्रैक उड़ाने की धमकी

पहले भी दी थी धमकी

गौरतलब है कि मोहम्मद मिर्जा ने पिछले साल 22 सितम्बर को भी रेल ट्रैक उडाने की धमकी वाला पत्र भेजा था। अब पुलिस इस मोहम्मद मिर्जा की सरगर्मी से तलाश कर रही है। वो पत्र भी सादे कागज पर ही भेजा गया था। दोनों पत्रों की हैंड राइटिंग एक ही है।

आगरा जहां की फिजा में प्यार की खुशबू फैलती है। वह अब दहशत गर्दों के निशाने पर है। शुक्रवार 17 मार्च को दुनिया के 7वें अजूबे ताजमहल को उड़ाने की आईएसआईएस की धमकी के मिलने के बाद वहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर दिए गए हैं। हालांकि जांच में जुटी सुरक्षा एजेंसियों को कोई पुख्ता सबूत नहीं मिल पाया है।

ताजमहल पहले से ही आईएसआईएस के निशाने पर है। इस संगठन के आतंकवादी लोन वुल्फ अटैक करते हैं। यानि भीड़ में अकेले हमले करना जिसमें नुकसान ज्यादा से ज्यादा हो। आईएसआईएस चीफ बगदादी के हमले का तरीका यही है जिसमें नुकसान ज्यादा होता है और हमलावर को बच निकलने में आसानी होती है।

अगली स्लाइड में देखिए धमकी भरा लेटर

zafar

zafar

Next Story