Top

किडनैपरों के गैंग में थी लेडी डॉक्टर, मिनटों में कर देती थी बेहोश

aman

amanBy aman

Published on 23 Sep 2016 1:40 PM GMT

किडनैपरों के गैंग में थी लेडी डॉक्टर, मिनटों में कर देती थी बेहोश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

jhansi-1

झांसी: शार्टकर्ट से अमीर बनने की चाहत में लोग जानें क्या-क्या कर जाते हैं इसी की एक बानगी झांसी में देखने को मिली। पुलिस ने शुक्रवार को अपहरण कर फिरौती मांगने वाले एक गैंग के पांच सदस्यों को मुठभेड़ के बाद पकड़ा। पुलिस तब दंग रह गई जब उनमें से एक महिला डॉक्टर निकली।

पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के पास से 10 लाख 52 हजार रुपए की नकदी, रायफल सहित तमंचे, कारतूस और एक बोलेरो बरामद किया। गैंग के गिरफ्तार सदस्य मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। यह गैंग इंदौर और मुरैना से संचालित किया जा रहा था।

ये भी पढ़ें ...पुलिस की आंख में मिर्च झोंक कर आधा दर्जन कैदी फरार, पेशी के बाद किया हमला

कैशियर का किया था अपहरण

अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी के बाद एसएसपी अब्दुल हमीद ने बताया कि 22 जुलाई को टहरौली की यूपी सर्व ग्रामीण बैंक के कैशियर मयंक गांधी का समथर थाना क्षेत्र से अपहरण हुआ था। पुलिस ने अपहृत की तलाश शुरू की। इसी बीच अपहरर्णकर्ताओं ने मयंक गांधी के पिता से फिरौती मांगी। मयंक के परिजनों ने 35 लाख की फिरौती देकर उसे मुुक्त कराया था।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें महिला डॉक्टर कैसे आई अपराध की दुनिया में...

jhansi-2

गुप्त सूचना पर पुलिस ने मारा छापा

एसएसपी अब्दुल हमीद के नेतृत्व में एक जांच दल तलाशी में जुटा। इसी दौरान उन्हें जानकारी मिली कि अपहरणकर्ता समथर थाना क्षेत्र के छेंवटा में हैं। पुलिस टीम को देखते ही बदमाश वहां से भागने लगे। इस दौरान उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। कई राउंड फायरिंग के बाद पुलिस ने एक महिला और चार पुरुष को पकड़ा।

ये भी पढ़ें ...UP: भैंस चुराने के आरोप में दलित को यादवों ने पेड़ से बांधा, पीटकर किया अधमरा

होम्योपैथिक डॉक्टर निकली किडनैपर

गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ में पता चला कि पकड़ी गई महिला होम्योपैथिक डॉक्टर है। महिला ने अपना नाम प्रिया गुप्ता पुत्री सियाशरण गुप्ता निवासी पटेल नगर जिला ग्वालियर बताया।

jhansi-4

पहले नौकरी फिर छोड़ा पति

पूछताछ में महिला डॉक्टर प्रिया गुप्ता ने बताया कि पति के लिए उसने अपनी डॉक्टरी छोड़ दी थी। बावजूद इसके उसका पति उसे अच्छी तरह नहीं रखता था। इस कारण वह पति को छोड़ अपने दोस्त आदित्य सोनी के कहने इस अपहरण के खेल में आ गई। प्रिय अब इस खेल का तरीका बदलने की तैयारी में थी। जिसमें वह पहले सुंदरता और प्रेम में अमीर लोगों को फंसाती और उसका अपहरण करती।

ये भी पढ़ें ...8 महीने पहले हुआ था दिव्यांग युवती से रेप, प्रेंग्नेट होने के बाद हुआ खुलासा

रेकी के बाद करते थे अपहरण

एसएसपी के अनुसार अपहरणकर्ताओं ने पूछताछ में बताया कि वे पहले रेकी करते हैं। फिर मौका पाकर उनका अपहरण कर लेते हैं। बैंक कैशियर के अपहरण से पहले भी उन्होंने रेकी की थी। 22 जुलाई को जब कैशियर मयंक गांधी बाइक से बैंक जा रहा था तभी कार से ओवरटेक कर उसे कार में डाल दिया। इस दौरान महिला डॉक्टर ने मयंक को बेहोशी का इंजेक्शन दिया था।

jhansi-5

एक और बिजनेस मैन का हो सकता था अपहरण

एसएसपी ने बताया कि यदि ये अपहरणकर्ता पकड़े नहीं जाते तो झांसी के एक और व्यवसायी का अपहरण हो सकता था। क्योंकि पूछताछ में इन लोगों ने बताया कि उन्होंने झांसी में एक बड़े व्यापारी की रैकी कर ली थी। इसके अलावा उन्होंने आगरा और भोपाल के भी कई बड़े लोगों की रेकी की है। इनके अपहरण की वे योजना बना रहे थे। वो इसके लिए कदम बढ़ाते इससे पहले ही पकड़े गए।

पांच अपहरणकर्ता अब भी फरार

एसएसपी ने बताया कि यह पूरा गैंग दस लोगों का है। इसमें महिला डॉक्टर समेत पांच सदस्य पकड़े गए हैं।जबकि इसी गैंग के पांच अन्य सदस्य फरार हैं। इनकी तलाश जारी है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story