Top

सिगरेट से जलाने के बाद करना चाहते थे मर्डर, फिल्मी अंदाज में बचाई जान

aman

amanBy aman

Published on 7 Aug 2016 1:42 PM GMT

सिगरेट से जलाने के बाद करना चाहते थे मर्डर, फिल्मी अंदाज में बचाई जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर : बदमाशों ने एक महिला को अगवा कर उसे सिगरेट से जलाया फिर सिर के बाल काटे और कलाईयों पर चाकू से निशान बनाए। महिला किसी तरह बदमाशों के चंगुल से छूट कर भाग निकली। उसने राहगीर के फोन से परिजनों को सूचित किया। पुलिस पीड़िता को मेडिकल के लिए भेजकर घटना की जांच में जुट गई है।

क्या है मामला ?

-नौबस्ता थाना क्षेत्र के माछरिया में रहते हैं रशीद अहमद।

-उनकी बेटी तसनीम अख्तर (23 वर्ष) 15 दिन पहले अपने ससुराल फिरोजाबाद से कानपुर आई थी।

-महिला के पति अतिकुर रहमान फिरोजाबाद में चूड़ी कारखाने में काम करता है।

-तसनीम बीते शुक्रवार माछरिया बाजार से अपनी सास के लिए बिछिया लेने गई थी।

-बदमाशों ने उसे वहीं से अगवा कर लिया।

यहां से किया अगवा

-तसनीम ने बताया, जब वह बाजार जा रही थी तभी एक शख्स ने पीछे से चाकू लगा दिया।

-उसने कहा, 'चुपचाप रहना वर्ना तुम्हारे छोटे भाई लारेब की जान चली जाएगी।

-पीड़िता ने बताया उन्होंने उसे एक वैन में खींच लिया और आंखों पर पट्टी बांध दी।

-चारों अगवा करने वालों ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया।

kanpur-2

चंगुल से छूटकर भागी

-पीड़िता ने बताया इसी दौरान उन अगवा करने वालों के पास फोन आया कि 'लड़की को ख़त्म कर दो'।

-बदमाशों ने कहा पहले कुछ खा लेते हैं फिर काम करेंगे।

-पीड़िता ने बताया एक को छोड़ सभी खाना खाने कमरे से चले गए।

-इस दौरान उनमें से एक ने पीड़िता के मुंह को कपड़ा से दबाने का प्रयास किया।

-पीड़िता ने सांस रोककर बेहोशी का नाटक किया। इसमें वह सफल रही।

जैसे-तैसे बाराबंकी स्टेशन पहुंची

-जब सभी खाने चले गए और चौथा बदमाश सो गया तो इसका फायदा उठाकर पीड़िता वहां से भाग निकली।

-पीड़िता ने बताया, मैंने अपने हाथ किसी तरह खोले और खिड़की से कूदकर भाग निकली।

-20 मिनट तक लगातार भागने के बाद वह किसी तरह बाराबंकी स्टेशन पहुंची।

-लोगों से मांगकर उसने 20 रुपए इकट्ठे किए और ट्रेन से देवशरीफ पहुंची।

-फिर किसी राहगीर के मोबाइल से परिजनों से संपर्क किया।

सिगरेट से जलाया, चाकू से काटा

-तसनीम ने पुलिस को बताया कि बदमाशों ने मुझे सिगरेट से जलाया।

-उन्होंने उसे गाली दी बाल काट दिए। फिर छूरी से हाथों की कलाई काटी।

-पीड़िता के मन में अब भी यही सवाल है की आखिर कौन उसे मरवाना चाहता है।

पिता ने मामला दर्ज किया

तसनीम के पिता रशीद अहमद ने बताया कि उनकी बेटी जब दो घंटे तक बाजार से वापस घर नहीं लौटी तो उसकी तलाश शुरू की। अंत में 100 नंबर पर पुलिस को सूचना दी और नौबस्ता थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई।

ये कहना है एसपी का?

इस घटना के बारे में एसपी साऊथ संजय कुमार यादव ने बताया कि शुक्रवार को पीड़िता के परिजनों ने गुमशुदगी का केस दर्ज करवाया था। शनिवार को अगवा बेटी का फोन आने के बाद पुलिस की मदद से उसे वापस लाया गया। पीड़िता का मेडिकल कराया जा रहा है। पुलिस इस घटना की जांच में जुटी है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story