Top

Lalu Yadav : लालू के करीबी पर ED ने कसा शिकंजा, फर्टिलाइजर घोटाले में RJD सांसद एडी सिंह गिरफ्तार

Lalu Yadav: लालू प्रसाद यादव के काफी करीबी माने जाने वाले सांसद की गिरफ्तारी कल देर रात फ़र्टिलाइज़र घोटाला मामले में की गई।

Anshuman Tiwari

Anshuman TiwariWritten By Anshuman TiwariShivaniPublished By Shivani

Published on 3 Jun 2021 7:23 AM GMT

RJD MP
X

RJD सांसद एडी सिंह के साथ तेजस्वी यादव (फोटो सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Lalu Yadav: बिहार में घोटाले (Bihar Me Ghotala) फिर चर्चा में है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने फ़र्टिलाइज़र घोटाले (Fertiliser Scam) में राजद (RJD) के राज्यसभा सदस्य अमरेंद्रधारी सिंह को गिरफ्तार (MP Amerendra Dhari Singh Arrested) कर लिया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav Close Aide) के काफी करीबी माने जाने वाले सांसद की गिरफ्तारी कल देर रात की गई। गिरफ्तारी के बाद उनकी मेडिकल जांच कराई गई। सांसद से दिल्ली स्थित प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर में पूछताछ की जा रही है।

जानकारों के मुताबिक, सीबीआई ने कुछ समय पहले ही अमरेंद्रधारी सिंह (एडी सिंह) के खिलाफ मामला दर्ज किया था। सूत्रों के मुताबिक उसी मामले को आधार बनाकर अब प्रवर्तन निदेशालय ने फ़र्टिलाइज़र घोटाले की जांच शुरू कर दी है। इसी सिलसिले में पूछताछ के लिए एडी सिंह को गिरफ्तार किया गया है।

सीबीआई ने की थी बड़ी कार्रवाई

सीबीआई ने पिछले दिनों इफ्को के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में केस दर्ज किया था और उसके बाद 12 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। सीबीआई की ओर से दुबई की एक कंपनी और उससे जुड़े लोगों के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था। इन लोगों में एडी सिंह का नाम भी शामिल था। उस समय वे दुबई स्थित ज्योति ट्रेडिंग कारपोरेशन खाद कंपनी में वरिष्ठ उपाध्यक्ष के पद पर तैनात थे। माना जा रहा है कि इसी सिलसिले में पूछताछ के लिए एडी सिंह को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार किया है।

लालू के कहने पर मिला था राजद का टिकट
एडी सिंह को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का काफी करीबी माना जाता है और राजद ने पिछले साल मार्च में उन्हें राज्यसभा का सदस्य बनाया था। जानकारों के मुताबिक एडी सिंह भूमिहार हैं और भूमिहारों पर अपनी पकड़ कायम करने के लिए ही लालू प्रसाद यादव ने यह कदम उठाया था। लालू पिछड़ों और मुस्लिमों की राजनीति में ज्यादा दिलचस्पी लेते रहे हैं और इसलिए लालू प्रसाद के इस कदम पर हर किसी को हैरानी भी हुई थी। सूत्रों के मुताबिक लालू के कहने पर ही एडी सिंह को राजद का टिकट दिया गया था।

बिहार के बड़े कारोबारी हैं एडी सिंह

एडी सिंह को टिकट देने पर सवाल भी उठे थे और तब तेजस्वी यादव की ओर से इन सवालों का जवाब दिया गया था। उनका कहना था कि राजद को सिर्फ यादवों और मुस्लिमों की पार्टी माना जाता है जबकि हमने सभी जातियों और धर्मों से जुड़े लोगों को हमेशा सम्मान दिया है।
एडी सिंह पटना के रहने वाले हैं और उनकी गिनती बिहार के बड़े कारोबारियों में की जाती है। फर्टिलाइजर और केमिकल्स का कारोबार करने वाले एडी सिंह ने दिल्ली विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है। वे दिल्ली से ही अपने सारे कारोबार का संचालन करते हैं। रियल स्टेट के कारोबार में भी उनका बड़ा दखल माना जाता है।
Shivani

Shivani

Next Story