Top

बनारस में जारी है हत्या का दौर, पान विक्रेता बना बदमाशों का शिकार   

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 2 Nov 2018 7:07 AM GMT

बनारस में जारी है हत्या का दौर, पान विक्रेता बना बदमाशों का शिकार   
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बदमाश इन दिनों कहर बरपा रहे हैं। पिछले एक हफ्ते के अंदर पांच लोगों की हत्या से शहर थर्रारा उठा है। एक के बाद एक लाशें गिरती जा रही हैं और पुलिस मूकदर्शक बने देख रही है। गुरुवार की रात में भी बदमाशों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया। कैंट थाना क्षेत्र के खजुरी इलाके में बाइक सवार बदमाशों ने पान विक्रेता की गोली मारकर हत्याकर दी। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश आराम से निकल गए।

यह भी पढ़ें—सावधान! दिवाली पर मिलावटखोरों का आतंक, यहां पकड़ी गई कुंतलों ‘जानलेवा मिठाई’

घर के बाहर कत्ल

पान विक्रेता पप्पू यादव की चौकाघाट पुल के नीचे पान की दुकान है। देर रात तकरीबन साढ़े ग्यारह बजे पप्पू दुकान बंद कर घर लौटे। जैसे ही वो अपने दरवाजे पर पहुंचें पीछे से बाइक सवार दो बदमाश ने उन्हें गोली मार दी। इसके बाद आराम से फरार हो गए। गंभीर रुप से जख्मी पप्पू यादव को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। पांच भाईयों में पप्पू चौथे नंबर का था। परिवार में पत्नी के अलावा दो बेटे और एक बेटी थी।

यह भी पढ़ें— महिला पत्रकार का अकबर पर रेप का आरोप, बोली-हृदय विदारक,लोग समझेंगे दर्द

जमीन विवाद में हत्या की आशंका

पप्पू के परिजनों के मुताबिक उनका पड़ोसियों से भूमि को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था। इस मामले को लेकर दोनों पक्ष कई बार आमने-सामने भी आ चुके थे। पड़ोसियों की ओर से उसे धमकी भी दी जा रही थी। पप्पू के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने पड़ोसी राजा यादव और उसके बेटे विनोद यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

यह भी पढ़ें— वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग: CM योगी की फटकार के बाद टूटी SSP लखनऊ की कुम्भकर्णी नींद

अब तक नहीं हुआ इन मामलों का पर्दाफाश

शहर में पिछले दस दिनों के अंदर 5 लोगों की हत्या हो चुकी है जबकि पटाखा विस्फोट में तीन को जान गंवानी पड़ी। शहर में ताबड़तोड़ हत्याओँ का दौर जारी है लेकिन पुलिस बेबस बनी हुई हैं। एक के बाद एक हो रही घटनाओं से शहर सहमा हुआ है। लेकिन पुलिस बेबस बनी हुई है। आलम ये है कि एक भी घटना में पुलिस वर्कआउट नहीं कर पाई है। शहर के ये हालात तब हैं जब अगले कुछ दिनों में देश-दुनिया के प्रवासी वाराणसी पहुंचने वाले हैं।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story