×

Maharajganj Gang Rape: दरिंदों ने बच्ची के साथ किया दुष्कर्म, प्रेग्नेंट होने पर खुला गैंगरेप का राज

महराजगंज जनपद में एक नाबालिग के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म का मामला पांच महीने बाद सामने आया है। जब डॉक्टर ने बताया कि पीड़िता 5 महीने की प्रेग्नेंट है।

Network

NetworkNewstrack NetworkShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 27 July 2021 9:31 AM GMT

The case of gang-rape with a minor in Maharajganj district has come to light after five months.
X

महराजगंज गैंगरेप: कांसेप्ट इमेज- सोशल मीडिया

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Maharajganj Gang Rape: यूपी में दुष्कर्म और हत्या के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। प्रदेश के महराजगंज जनपद में एक नाबालिग के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म का मामला पांच महीने बाद सामने आया है। पीड़िता की अचानक तबीयत बिगड़ी तो परिजन उसे हॉस्पिटल ले गए, जहां इलाज कर रहे डॉक्टर ने बताया कि उनकी बेटी 5 महीने की प्रेग्नेंट है। यह सुनकर परिजनों के ऊपर मानों बिजली गिर गई।

महराजगंज जनपद में नाबालिग के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में लड़की के पिता ने बताया है कि करीब पांच महीने पहले उनकी चौदह साल की बेटी सड़क की ओर अकेले टहलने गई थी, इस दौरान चार युवकों ने बेटी का मुंह बंद कर सुनसान जगह ले गए, उसके बाद बेटी के साथ चारों आरोपितों ने बारी-बारी सामूहिक दुष्कर्म किया।

थाने का चक्कर लगाने के बाद बाद भी न्याय नहीं

लड़की के पिता ने बताया कि आरोपितों ने बेटी को जान से मारने की धमकी देते हुए घटना के बारे में किसी को कोई जानकारी न देने की बात कही थी जिससे वह डरकर अपने साथ हुए घटना की जानकारी किसी को नहीं दी, अब पांच महीने बाद जब उसकी अचानक तबियत बिगड़ गई, तब उसे अस्पताल ले गए।' लड़की के पिता ने बताया कि इस मामले में बेटी को लेकर थाने पहुंच कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, लेकिन उन्हें कई दिनों तक थाने का चक्कर लगाने के बाद बाद भी न्याय नहीं मिला।

महराजगंज जनपद- थाना निचलौल: फोटो- सोशल मीडिया

आरोपी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं

समाज में लोक लाज के भय से पीड़िता ने मामले को छिपाए रखा लेकिन जब वो गर्भवती हो गई और परिजनों को मामले की जानकारी हो गई तब न्याय के लिए थाने गई । लेकिन वहां भी उसकी नहीं सुनी गई, तब शहर के सबसे बड़े पुलिस अधिकारी के पास परिजन पहुंचे, तब जाकर मामला दर्ज हुआ। आरोपी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं।

पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने बताया कि मामले की जानकारी मिलते ही पीड़िता के पिता की तहरीर पर चार आरोपित बिट्टू यादव, संदीप चौरसिया, टीपू टीपू लोहार और कुंदन के खिलाफ सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। आरोपियों के विरुद्ध शख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story