Top

15 दिन पहले जेल से लौटा था बेटा, मां ने घर पर रखी पूजा, लेकिन मिली मौत

वो 15 दिन पहले जेल से छूट कर आया था, माँ बहुत खुश थी कि लाडला वापस आ गया है अब सुधर जायेगा| माँ ने उसकी सद्बुद्धि के लिए घर में संकटा देवी का पूजन रखा था l पूजा का प्रसाद खा कर जैसे ही गाँव के बाहर निकला घात लगा कर बैठे बदमाशो ने तबाड तोड़ गोलिया बरसा कर उसकी हत्या कर दी|

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 26 Nov 2016 1:44 AM GMT

15 दिन पहले जेल से लौटा था बेटा, मां ने घर पर रखी पूजा, लेकिन मिली मौत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

kanpur-02

कानपुर : वो 15 दिन पहले जेल से छूट कर आया था, मां बहुत खुश थी कि लाडला वापस आ गया है। अब सुधर जायेगा। मां ने उसकी सद्बुद्धि के लिए घर में संकटा देवी की पूजा रखी थी। पूजा का प्रसाद खा कर जैसे ही गांव के बाहर वह निकला तो पहले से ही घात लगा कर बैठे बदमाशों ने उसपर तबाड तोड़ गोलिया बरसा दी। जिससे उसकी मौत हो गई। उसकी दहशत का आलम ये था कि ग्रामीणों ने शव को पहचानने तक से इंकार कर दिया। फ़िलहाल पुलिस ने शव को पोस्ट माॅर्टम के लिए भेज दिया है।

क्या है मामला ?

घाटमपुर कोतवाली के शार्देगोपालपुर निवासी जगदीश यादव खेती किसानी कर परिवार का पालन पोषण करते हैं। परिवार में पत्नी विमला, बड़ा बेटा अनुज यादव (23) और छोटा बेटा साहिल (09) है। मृतक अनुज बचपन से ही अपराधी प्रवत्ति का था। उसका मन पढ़ाई में नहीं लगता था। जानकारी के मुताबिक, अनुज 15 दिन पहले ही जेल से छूट कर आया था। जेल से छूट कर आने पर उसकी मां विमला ने घर पर संकटा देवी की पूजा घर में रखी थी।

क्या कहना है मां का ?

मृतक की मां ने बताया कि शुक्रवार को घर में संकट देवी की पूजा थी। पूजा होने के बाद अनुज प्रसाद खा कर अपने साथी चुनमुन से मिलने की बात कह कर घर से बाहर निकला था। जैसे ही अनुज गांव के बाहर निकला पुलिया के पास पहले से घात लगाकर बैठे बदमाशों ने उस पर गोलियां चला दी। मृतक की मां ने गांव के ही रहने वाले बंटू यादव पर हत्या का आरोप लगाया है।

वर्चस्व की लड़ाई

बंटू और अनुज दोनों ही अपराधी प्रवत्ति के हैं। गांव में दोनों ही परिवारों के बीच वर्चस्व को लेकर विवाद चलता रहता था लेकिन अनुज का परिवार उसका साथ नही देता था। वहीँ बंटू का परिवार आर्थिक रूप से मजबूत है और गांव में अपना वर्चस्व बनाना चाहता था। अनुज के नाम से गांव के लोग ही नही बल्कि आसपास के गांव के लोग भी दहशत में रहते थे।

क्या कहना है ग्रामीणों का ?

ग्रामीण पवन ने बताया कि अनुज के खिलाफ घाटमपुर कोतवाली, बिधनू समेत गैर जनपदों के थानों में लूट,चोरी, डकैती और हत्या के प्रयास जैसे मुक़दमे दर्ज हैं। अभी 15 दिन पहले ही वह जेल से छूट कर आया है।

क्या कहना है पुलिस का ?

एसपी ग्रामीण राजेश कुमार के मुताबिक इस घटना के संबंध में कुछ लोगो को राउंडअप किया गया है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि अनुज ने साथियों के साथ शराब पी थी। जो लोग साथ में थे वह भी अपराधी किस्म के थे।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज ...

vlcsnap-2016-11-25-19h02m17s747

kanpur-01

vlcsnap-2016-11-25-18h56m50s103

vlcsnap-2016-11-25-18h57m20s306

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story