Top

Mathura Crime News: मथुरा का गालीबाज इंस्पेक्टर, महिला फरियादी को गाली देकर थाने से भगाया, वीडियो वायरल

Mathura Crime News: वीडियो में इंस्पेक्टर को गाली गलौज करते सुना जा सकता है।

Nitin Gautam

Nitin GautamReport Nitin GautamDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 1 July 2021 6:16 PM GMT

Mathura Crime News: मथुरा का गालीबाज इंस्पेक्टर, महिला फरियादी को गाली देकर थाने से भगाया, वीडियो वायरल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Mathura Crime News: मथुरा के थाना राया के इंस्पेक्टर उत्तम चंद पटेल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में इंस्पेक्टर को गाली गलौज करते सुना जा सकता है। वीडियो में इंस्पेक्टर एक महिला से उन अभद्र शब्दों का सार्वजनिक स्थल पर प्रयोग कर रहे हैं जो किसी भी हालात में सही व मर्यादित नहीं कहा जा सकता।

एक मां अपनी नाबालिग किशोरी की बरामदगी के लिए इंस्पेक्टर से थाने गुहार लगाने गई थी। इंस्पेक्टर उत्तम चंद पटेल ने पीड़िता को उचित मदद का भरोसा देने की बजाय उसको फटकार कर थाने से बाहर निकालने का भी कोशिश की। इंस्पेक्टर का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसके बाद पुलिस की काफी किरकिरी हो रही है।
दरअसल राया क्षेत्र के गांव गंगा नगला से 17 वर्षीय नाबालिग किशोरी को बहला फुसला कर ले जाने का आरोप पड़ोसी गांव के युवक पर लगाते हुए किशोरी के परिजनों ने थाना राया पर तहरीर दी। बताया गया कि 29 जून को शादी समारोह में गयी किशोरी को युवक बहला फुसला कर ले गया है जिसके बाद शुक्रलार सुबह किशोरी के परिजन व ग्रामीण कार्रवाई की मांग को लेकर थाना राया पहुंचे। जहां थाना प्रभारी द्वारा परिजनों के साथ गाली गलौज की गई जिससे नाराज परिजन व ग्रामीणों ने थाना राया पर जमकर हंगामा किया। किशोरी के परिजनों का कहना था पुलिस कार्रवाई करने की बजाय उनके साथ गाली गलौज कर रही है और उन्हें थाना से बाहर निकाल दिया गया।
मिली जानकारी के मुताबिक, दलित से मामला जुड़ा होने की वजह से मामले की जानकारी होने पर भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी थाने पर पहुंच गए और पुलिस की कार्यशैली के विरोध में आ गए। भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने लड़की के जल्द बरामद होने का भरोसा दिया और लड़की बाद में पुलिस ने बरामद कर ली। लेकिन बड़ा सवाल है कि इंस्पेक्टर का आचरण महिलाओं के प्रति कितना अशोभनीय है। अब देखना होगा कि अधिकारी इस मामले में कोई संज्ञान लेते हैं या फिर महिलाओं के सम्मान का दावा यू ही खोखला साबित होगा।


Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story