Top

Mob Lynching in Rajasthan: गो तस्करी के शक में युवक को पीट-पीटकर मार डाला, दूसरे की हालत नाजुक

Mob Lynching in Rajasthan: राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में गो तस्करी के शक में ग्रामीणों ने दो युवकों की पिटाई कर दी। इसमें एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरे का अस्पताल में इलाज चल रहा है।

Network

NetworkNewstrack NetworkAshikiPublished By Ashiki

Published on 15 Jun 2021 4:55 AM GMT

Mob Lynching in Rajasthan
X

कांसेप्ट इमेज (फोटो-सोशल मीडिया )

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Mob Lynching in Rajasthan: राजस्थान (Rajasthan) के चित्तौड़गढ़ जिले में मॉब लिंचिंग (Mob lynching) का मामला सामने आया है। यहां गो तस्करी के शक में ग्रामीणों ने दो युवकों की पिटाई कर दी। इसमें एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरे का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस मामले में पुलिस ने 19 लोगों को नामजद किया है, जिसमें से 9 को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मामला चित्तौड़गढ़ (Chittorgarh) जिले के बिलखंडा गांव का बताया जा रहा है, जहां गो तस्करी के शक में मॉब लिंचिंग (Mob lynching) की घटना सामने आई है। घटना रविवार देर रात की है। आरोप है कि दो युवक पिकअप में गोवंश भरकर ले जा रहे थे। दोनों ही युवक भील जाति के थे। गांव वालों को जब गो तस्करी का शक हुआ तो उन्होंने पिकअप को रुकवाया, लेकिन भीड़ देखकर दोनों युवक पिकअप लेकर भागने लगे। बाद में गांव वालों ने पीछा कर उन युवकों को पकड़ा और जमकर पिटाई कर दी।

इस हमले में एक युवक पिंटू की मौत हो गई। जबकि, दूसरे युवक बाबू को चित्तौड़गढ़ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है। बाबू का दावा है कि वो खेती के काम के लिए 3 बैल मध्य प्रदेश से अपने गांव लेकर जा रहे थे। मौके पर पहुंचे एसपी दीपक भार्गव ने कहा कि इस मामले में 19 लोगों को नामजद किया गया है, जिसमें से 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, आईजी सत्यवीर सिंह का कहना है कि इस घटना में जो भी लोग दोषी हैं, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।

दोनों पीड़ित बैल लेकर जा रहे थे

बेगूं क्षेत्राधिकारी राजेंद्र सिंह ने कहा कि दोनों पीड़ित एक वाहन में बैल लेकर जा रहे थे। कुछ स्थानीय लोगों ने उनपर गोवंश तस्करी का आरोप लगाते हुए हमला कर दिया। उन्होंने कहा कि घायल युवक ने बताया कि उसने बैल बेगूं गांव से खरीदे थे और खेती के काम के लिए अपने गांव लेकर जा रहे थे। हालांकि उसके पास कोई दस्तावेज नहीं थे और पुष्टि के लिए पशु कारोबारियों को बुलाया गया है।वहीं मृतक पिंटू के परिजन एमपी के झाबुआ जिले के रहने वाले हैं, जो बिलखंडा गांव पहुंच चुके हैं। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। जांच होने तक पशुओं को गोशाला भिजवा दिया गया है।

Ashiki

Ashiki

Next Story