Top

ट्रेन में सफर कर रही लड़की को अगवा करना चाहते थे वो, मां-बेटी ने लगा दी छलांग

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 12 Nov 2017 3:11 PM GMT

ट्रेन में सफर कर रही लड़की को अगवा करना चाहते थे वो, मां-बेटी ने लगा दी छलांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर : महिलाओं की सुरक्षा को लेकर रेल प्रशासन की सुस्ती एक बार फिर जाहिर हो गई है। हावड़ा से दिल्ली की यात्रा कर रही मां-बेटी ने शोहदों की हरकतों से तंग आकर चलती ट्रेन से छलांग लगा दी। कानपुर के चंदारी रेलवे स्टेशन पर हुई वारदात के बाद रेलवे प्रशासन में हड़कंप मच गया। सूचना पाकर पहुंची जीआरपी ने घायल मां-बेटी को इलाज के लिये हैलट अस्पताल में भर्ती कराया।

महिला का आरोप है कि अगर जीआरपी शोहदों को पकड़ लेती, तो वह ये कदम नहीं उठाती। फिलहाल जीआरपी इंस्पेक्टर राम मोहन राय का कहना हैं कि महिला की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई हैं।

बंगाल की रहने वाली नूरजहां के पति बाबू खान दिल्ली में नौकरी करते हैं। नूरजहां अपनी इकलौती बेटी सोनिया (नवीं की स्टूडेंट) के साथ हावड़ा से दिल्ली जा रही थी। महिला ने बताया कि कलकत्ता से कुछ लड़के ट्रेन में सवार हुये थे और बेटी से बदतमीजी कर रहे थे। जिसकी शिकायत महिला ने रास्ते में पड़ने वाले स्टेशन में की। लेकिन रेलवे पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया।

शोहदों ने बेटी को उठाकर ले जाने की धमकी दी तो महिला ने इलाहाबाद में उनकी शिकायत की। इस दौरान जीआरपी कर्मियों ने तीन लड़कों को ट्रेन से उतार लिया और फिर छोड़ दिया। अगले स्टेशन में वह लड़के फिर ट्रेन में सवार हो गये और महिला और उसकी बेटी से बदसलूकी करनी शुरु कर दी। बेटी और खुद की लाज बचाने के लिये महिला कानपुर स्थित चंदारी रेलवे स्टेशन पर चलती ट्रेन से कूद गईं। मां-बेटी को ट्रेन से कूदता देख वहां मौजूद गार्ड ने घटना की जानकारी जीआरपी अफसरों को दी। घटना की जानकारी पाकर पहुंची जीआरपी पुलिस ने महिला को हैलट अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उन्हें प्राथमिक इलाज देकर सेन्ट्रल स्टेशन जीआरपी के सुपुर्द कर दिया गया है।

जीआरपी इंस्पेक्टर कानपुर सेन्ट्रल राम मोहन राय के मुताबिक अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उनकी तलाश की जा रही है और सीसीटीवी से उनके फुटेज भी खंगाले जाएंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story