Top

घातक रोग से पीड़ित मां-बेटी का आरोप, किरायेदार ने संपत्ति के लिए की मारने की कोशिश

बीएलओ ने अनामिका मिश्रा के बारे में पूछा तो किरायेदार अरशद और उसकी मां ने कहा यहां इस नाम का कोई नहीं रहता। बीएलओ और मामा के जाने के बाद किरायेदार मां बेटी को मारने लगे। आरोप है कि अनामिका बेड से नीचे गिर गई तो आरोपियों ने गले में बेल्ट फंसा कर गला घोंटने की कोशिश की।

zafar

zafarBy zafar

Published on 30 May 2017 12:02 AM GMT

घातक रोग से पीड़ित मां-बेटी का आरोप, किरायेदार ने संपत्ति के लिए की मारने की कोशिश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: घातक बीमारी मस्क्युलर डिस्ट्रॉफी से पीड़ित मां-बेटी ने आरोप लगाया है कि संपत्ति के लालच में उनके किरायेदार ने उन्हें जान से मारने की कोशिश की। मां-बेटी का यह परिवार बीमारी के कारण पिछले पांच साल से अपने घर से बाहर नहीं निकला है। करीब साल भर पहले मां-बेटी ने लाचारी से तंग आकर इच्छामृत्यु की भी मांग की थी।

संपत्ति पर नजर

नौबस्ता के यशोदा नगर में रहने वाली किरण (58) को करीब 20 साल पहले घातक बीमारी मस्क्युलर डिस्ट्रॉफी ने अपनी चपेट में ले लिया। पत्नी के इलाज के दौरान ही कारोबारी की भी मौत हो गई। इसके बाद बेटी अनामिका (35) भी इस बीमारी की गिरफ्त में आ गई। इसके बाद चलने फिरने से मजबूर दोनों मां-बेटी एक कमरे में कैद होकर रह गईं।

यह भी पढ़ें...हत्या के आरोप में हाई वे पर शव रख कर हंगामा, पथराव और लाठी चार्ज में कई घायल

बेटी अनामिका के अनुसार सौतेले भाई ने एक परिवार को मकान का एक हिस्सा किराये पर दे दिया था। किरायेदार के परिवार में अरशद और उसकी मां हैं। करीब 8 साल पहले सौतेले भाई की भी मौत हो गई। इसके बाद से अरशद और उसकी मां मकान खाली करने को तैयार नही हैं। बेटी अनामिका ने आरोप लगाया कि ये लोग हमें मार कर मकान पर कब्ज़ा करने के प्रयास में हैं।

यह भी पढ़ें...कोतवाली में दरोगा पर धारदार हथियार से हमला, आरोपों में स्थानीय भाजपा नेता

हत्या का प्रयास

आरोप है कि सोमवार को वोटर आईडी कार्ड बनाने के लिए बीएलओ आए थे। बीएलओ ने अनामिका मिश्रा के बारे में पूछा तो किरायेदार अरशद और उसकी मां ने कहा यहां इस नाम का कोई नहीं रहता। लेकिन यह बात मामा ने सुन ली और बीएलओ को बुला लिया। बीएलओ और मामा के जाने के बाद किरायेदार मां बेटी को मारने लगे। आरोप है कि अनामिका बेड से नीचे गिर गई तो आरोपियों ने गले में बेल्ट फंसा कर गला घोंटने की कोशिश की। शोर मचाने पर मामा ने आकर बचाया। इसकी सूचना पुलिस और व्यापार मंडल को दी गई।

यह भी पढ़ें...संपत्ति बंटवारे में 3 साल पहले हुआ था किशोर का अपहरण, पुलिस ने बेकसूरों को भेजा था जेल

बता दें कि करीब साल भर पहले आर्थिक तंगी से जूझ रही मां-बेटी राष्ट्रपति से इच्छामृत्यु की भी मांग कर चुकी हैं। लेकिन फिलहाल परिवार को व्यापार मंडल ने गोद ले लिया है।एसओ संतोष त्रिपाठी के मुताबिक मां बेटी पर हमला करने वाले दोनों अभियुक्त अभी फरार हैं। मां-बेटी की सुरक्षा के लिए सिपाही तैनात किये गये हैं। कार्रवाई की जा रही है।

आगे स्लाइड्स में देखिये कुछ और फोटोज...

zafar

zafar

Next Story