नोएडा घोटाला: 34 घंटे सर्च के बाद अब आयकर टीम शुरू करेगी जांच

नोएडा: 34 घंटे के सर्च आपरेशन के बाद आयकर विभाग जांच शुरू करने जा रहा है। इसके लिए ब्रजपाल चौधरी के 10 ठिकानों पर आयकर ने छापेमारी की थी। तीन ठिकानों में गुरुवार देर रात को सर्च आपरेशन पूरा कर लिया गया था। जबकि अन्य ठिकानों पर शुक्रवार दोपहर बाद सर्च आपरेशन पूरा किया जा सका।

इस दौरान सैकड़ों पेज के दस्तावेज जब्त किए गए हैं। इन दस्तावेजों के आधार पर अब जांच की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। रिपोर्ट तैयार की जाएगी। जिससे यह पता चलेगा कि एपीई के पास कितनी बेनामी संपत्ति है। साथ ही कितना टैक्स चोरी किया गया।  आयकर विभाग की इंवेस्टिगेशन विंग की कई टीमों ने गुरुवार सुबह नोएडा प्राधिकरण के सहायक परियोजना अभियंता ब्रजपाल चौधरी के 10 ठिकानो पर छापेमारी की।

क्या गवर्नर का बिना जांच किए सीएम को पत्र लिखना ठीक था?

सेक्टर-27 स्थित कोठी में ब्रजपाल उनकी पत्नी सुदेश चौधरी, बेटा, बेटी से करीब 34 घंटे तक पूछताछ की गई। सूत्रों की मानें तो पहले तो ब्रजपाल ने अपने रसूख के जरिए आयकर के अधिकारियों को पूछताछ के दौरान लटकाने की कोशिश की। अब तक ब्रजपाल की 22 प्रापर्टी के बारे में जानकारी मिली। इसमे सेक्टर-63 में मोती महल के साथ एक कंपनी पूजा केबिल मिली। यह कंपनी उसकी बेटी पूजा के नाम से है। टीम ने यहां गुरुवार रात दस बजे तक पूछताछ की साथ दस्तावेज खंगाले।

सबसे लंबी पूछताछ सेक्टर-27 स्थित एच-37 में की गई। यहा शुक्रवार दोहपर बाद तक सर्च आपरेशन चलता रहा। वही रिश्तेदारों को ट्रांसफर की गई संपंत्ति का ब्यौरा लिया गया। ऐसे में मिले दस्तावेजों को एकत्रित कर लिया गया है। इन दस्तावेजों के आधार पर टीम द्वारा इवेस्टिगेशन की जाएगी। इसकी एक रिपोर्ट तैयार होगी।

छह महीने से लगी थी टीम
आधिकारिक सूत्रों की मानें तो छह महीने से आयकर की टीम ब्रजपाल चौधरी के पीछे लगी थी। ब्रजपाल प्राधिकरण में क्या करता है, कहां से पैसा जुटाया, कितनी संपत्ति खरीदी, साथ ही अकूत पैसा कहां से आ रहा है और कहां जा रहा है। इसकी पूरी जानकारी आयकर को थी। पड़ताल पूरी होने के बाद टीम ने एक साथ ब्रजपाल के 10 ठिकानों पर छापेमारी की। जिसके बाद अकूत संपंत्ति की जानकारी निकलकर सामने आ रही है।

कार पर लिखा उप्र सरकार
सहायक परियोजना अधिकारी को लग्जरी कार रखने का शौक था। उसके वाहनों पर उप्र सरकार लिखा है। एक कार ऐसी है जो इसकी बेटी पूजा के नाम है। कार के पीछे उप्र सरकार लिखा गया है। यह नियमों के विरूद्ध है। अब तक की जांच में कई बड़े अधिकारियों व नेताओं के नाम सामने आए हैं।

सूदखोरों का आतंक: 95 फीसदी तक जला पीडि़त, ऐसे हुई दर्दनाक मौत

प्राधिकरण ने किया निलंबित
भष्टाचार व आय से अधिक संपत्ति मिलने की जानकारी के बाद प्राधिकरण ने सहायक परियोजना अभियंता को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। साथ ही विभागीय जांच मुख्य परियोजना अभियंता संदीप चंद्रा को सौंप दी है। जांच के दौरान 1981 से अब तक ब्रजपाल द्वारा किए गए कार्यो का पूर्ण ब्यौरा तलब किया जाएगा। यह रिपोर्ट तैयार कर मुख्य कार्यपालक अधिकारी को दी जाएगी। इसकी एक कांपी शासन को भेजी जाएगी। बताते चले कि माामले में मुख्यमंत्री ने संज्ञान लिया है।

अब तक क्या मिला
-पांच बैंकों में खाते व लाकर
-फरीदाबाद के सेक्टर-91 में आलीशान मकान
-सेक्टर-52 में 45० वर्गमीटर जमीन पर मकान
-सेक्टर-33 में तीन मंजिला मकान
-सेक्टर-63 के सी ब्लाक में 1००० वर्गमीटर में कंपनी
-सेक्टर-63 में मोती महल भवन
-बिल्डरों के यहा आठ फ्लैट
-सेक्टर-27 में एच-37 स्थित आलीशान कोठी
-मामूरा में 6 हजार वर्गमीटर जमीन
-भंगेल सेक्टर-11० में रामा बैंक्वेट हाल
-पिलुखवा में दिल्ली वन पब्लिक स्कूल
-मोदी नगर में कषि फार्म हाउस
-6666 नंबर की तीन लग्जरी कार
-नोएडा से बुलंदशहर तक कुछ भूखंडों की जानकारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App