Top

लखीमपुर खीरी: आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने पर बढ़ा बवाल, शहर में कर्फ्यू, स्कूल कॉलेज बंद

यूपी के लखीमपुर खीरी में गुरुवार (2 मार्च) देर रात सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो क्लिप वायरल हो जाने के बाद दो विशेष समुदायों में जमकर बवाल हुआ। पूरे शहर में कर्फ्यू लगा दिया है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 2 March 2017 6:07 PM GMT

लखीमपुर खीरी: आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने पर बढ़ा बवाल, शहर में कर्फ्यू, स्कूल कॉलेज बंद
X
लखीमपुर खीरी: आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने पर बढ़ा बवाल, शहर में कर्फ्यू, स्कूल कॉलेज बंद
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखीमपुर खीरी: आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने पर बढ़ा बवाल, शहर में कर्फ्यू, स्कूल कॉलेज बंद

लखीमपुर खीरी: एक भड़काऊ वीडियो की वजह से तराई का शांत शहर लखीमपुर खीरी गुरुवार (02 मार्च) को अचानक गरमा गया। भारी तनाव के बीच जगह-जगह विरोध प्रदर्शन और हंगामे हुए। बाजार बंद हो गए। हालात खराब होते देख प्रशासन को रात होते-होते पूरे शहर में कर्फ्यू लगाना पड़ा। दूसरी ओर, थरबरनगंज इलाके में दो पक्ष आपस में भिड़ गए।

फायरिंग में एक युवक के गोली लगने और कई जगह पर तोड़फोड़ की खबर है। गुरूवार (02 मार्च) देर रात लखनऊ के आईजी और डीआईजी भी मौके पर पहुंच गए हैं। डीएम लखीमपुर खीरी आकाशदीप ने अगले आदेश तक शहर के सभी स्कूल-कॉलेज बंद रखने के निर्देश जारी कर दिया हैं।



कर्फ्यू के ऐलान के साथ ही हर तरफ सड़कों पर सन्नाटा पसर गया है। प्रशासन ने शहर में पीएसी के साथ भारी संख्या में फोर्स भी जुटा दी है। आसपास के जिलों से भी फोर्स खीरी बुलाई गई है।

अगली स्लाइड में जानिए क्या था मामला ...

क्या था मामला ?

दरअसल सोशल मीडिया पर एक आपत्तिजनक वीडियो क्लिप को लेकर विवाद बुधवार (01 मार्च) को सामने आया था। पुलिस के मुताबिक, शहर के ही एक स्टूडेंट ने दोस्त के साथ मिलकर हिंदू देवी-देवताओं का आपत्तिजनक वीडियो बनाया। जिसे बाद में सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

यह वीडियो वायरल होते ही तनाव के हालात बन गए। पहचान होने पर पुलिस ने एक आरोपी स्टूडेंट के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली थी।

पुलिस ने मुख्य आरोपी को कानपुर से अरेस्ट कर लिया था, जबकि दूसरा आरोपी शहर से ही पकड़ लिया गया था। बवाल की आशंका से पुलिस ने गुरुवार (02 मार्च) शाम को दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश करने की बजाए चुपके से जेल में दाखिल कर दिया।

इसके बाद शहर का माहौल बिगड़ता चला गया। दिन में डीएम दफ्तर पर प्रदर्शन हुआ था तो शहर में जगह-जगह प्रदर्शन शुरू हो गए।

सूचना पर एसपी मनोज झा, एएसपी दीपेंद्र नाथ चौधरी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। प्रशासन ने टकराव की आशंका से आनन-फानन में सभी संवेदनशील इलाकों को छावनी में तब्दील कर दिया।

एसपी ने देर शाम लोगों से शांति और संयम की अपील करते हुए कहा कि पुलिस ने आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है। फिर भी हालात बिगड़ते नजर आए तो रात में प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू की घोषणा कर दी।



डीएम आकाश दीप ने पूरे शहर (सदर कोतवाली क्षेत्र) कर्फ्यू की पुष्टि की है। अगले आदेश तक शहर के स्कूल-कॉलेज बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। अफसरों से कहा गया है कि वे हालात से निपटने के लिए सख्ती बरतें।

अगली स्लाइड में जानिए किसने सौंपा डीएम को ज्ञापन ...

जेल में ही हुआ मेडिकल परीक्षण

मामले में युवकों की सुरक्षा को देखते हुए कोर्ट न ले जाकर जहां युवकों को सीधे जेल में न्यायिक हिरासत में लिया गया, तो वहीं इन युवकों को मेडिकल परीक्षण के लिए भी डॉक्टर्स की टीम जेल आई।

वीडियो से उपजा यह विवाद पुलिस के लिए किसी सिरदर्द से कम नहीं। यही कारण रहा कि पुलिस और प्रशासन के उच्चाधिकारियों ने युवक को कोर्ट में ले जाकर सारी प्रक्रियाएं जेल में ही कराना सुनिश्चित किया।

विहिप ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

मामले में लोगों की नाराजगी थमने का नाम नहीं ले रही है। सड़कों पर उतरी भारी भीड़ ने जहां बाजार बंद करा दिया। वहीं विश्व हिंदू परिषद द्वारा डीएम को ज्ञापन देकर मामले में कठोर कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

विश्व हिंदू परिषद नेता राहुल तिवारी ने बताया कि इस तरह से किसी भी धर्म या समुदाय र टिप्पणी करने वाले को फांसी की सजा होनी चाहिए।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story