Top

अब गुस्से में 'तीन तलाक' नहीं देगा पति, तुर्क बिरादरी ने लगाई पाबंदी

By

Published on 12 Jun 2017 9:08 AM GMT

अब गुस्से में तीन तलाक नहीं देगा पति, तुर्क बिरादरी ने लगाई पाबंदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

संभल: तुर्क बिरादरी ने तीन तलाक पर नया फैसला सुनाया है। पंचायत मे तुर्क बिरादरी के लोगों ने गुस्से में तलाक देने पर पाबंदी लगा दी है। लड़ाई झगड़ा होने पर आपस में मिलकर हल निकालने की सलाह दी है।

संभल जिले के हाजीपुर गांव में तुर्क बिरादरी के लोगों की एक पंचायत हुई। जिसमे दर्जनों गांव के तुर्क बिरादरी के लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। पंचायत में फरमान सुनाया गया कि अब गुस्से में बिरादरी का कोई भी इंसान तलाक नहीं देगा। अगर गुस्से, लड़ाई ने अगर तलाक देता है, तो उसका जिम्मेदार लड़के को ही माना जाएगा।

पंचायत के चेयरमैन शाहिद हुसैन ने कहा कि आपस में लड़ाई-झगड़े ने एक बार में तीन तलाक न दें। अगर कोई बात लड़ाई होती है, तो उस समस्या को पंचायत में रखा जाए। जिससे उसका समाधान हो सके। पंचायत में बसपा नेता रफतुल्ला, डॉ जावेद, असतुल्ला, आबिद, तालिब, मौलाना तौसीफ मौजूद रहे।

गांव में मामले को लेकर उठाया गया कदम

हाल ही में एक बार में तीन तलाक देना पति को महंगा पड़ गया। पंचायत में पति पर दो लाख का जुर्माना डाला गया। पंचायत में मेहर के 60 हजार रुपए पीड़िता को दिलवाए हैं। पंचायत का ऐलान है कि अगर कोई गुस्से में आकर तीन तलाक देता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई के साथ ऐसा ही जुर्माना लगाया जाया करेगा।

-मामला हयातनगर के गांव मुसापुर का है।

-गांव के ही एक 43 वर्षीय व्यक्ति ने 30 उम्र की महिला से निकाह किया था।

-निकाह होने के बाद से दोनों की बीच मनमुटाव रहता था।

-जिसके चलते दोनों के बीच मारपीट होती रहती थी।

-10 दिन पूर्व में पति पत्नी में मारपीट हुई। जिससे गुस्से में आकर पति ने पत्नी से *तलाक तलाक तलाक* बोल दिया। महिला अपने घर चली गई।

-जिसके बाद सुसर्लियो ने इस मुद्दे को तुर्क बिरादरी के जिम्मेदार लोगो को बताया और फिर रविवार को मदरसा खलील -उल उलूम में आयोजित पंचायत में बात रखी।

-पंचायत के मुखिया लियाकत हुसैन ने कहा कि एक बार में तलाक देने वाले युवक पर पंचायत में दो लाख का जुर्माना डाला जाता है।

-जुर्माने के साथ दहेज़ का समान भी वापस कराया गया। मैहर के 60 हजार रुपए लड़की को दिलाए गए।

Next Story